Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Feb 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-258💐

हक़ीक़त से परहेज़ नहीं किया जा सकता,
बताएँ नज़र में बे-एतिबार का रंग क्यों है।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
61 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दिया एक जलाए
दिया एक जलाए
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
पहाड़ों की रानी
पहाड़ों की रानी
Shailendra Aseem
महादेवी वर्मा जी की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि
महादेवी वर्मा जी की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि
Harminder Kaur
मैं भारत हूं (काव्य)
मैं भारत हूं (काव्य)
AMRESH KUMAR VERMA
यही जीवन है ।
यही जीवन है ।
Rohit yadav
सफ़ेदे का पत्ता
सफ़ेदे का पत्ता
नन्दलाल सुथार "राही"
और ज़रा भी नहीं सोचते हम
और ज़रा भी नहीं सोचते हम
Surinder blackpen
■ आज का मशवरा...
■ आज का मशवरा...
*Author प्रणय प्रभात*
यह तो आदत है मेरी
यह तो आदत है मेरी
gurudeenverma198
जब तुम
जब तुम
shabina. Naaz
कुछ भी होगा, ये प्यार नहीं है
कुछ भी होगा, ये प्यार नहीं है
Anil chobisa
Mujhe laga tha ki meri talash tum tak khatam ho jayegi
Mujhe laga tha ki meri talash tum tak khatam ho jayegi
Sakshi Tripathi
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
बैठे-बैठे यूहीं ख्याल आ गया,
बैठे-बैठे यूहीं ख्याल आ गया,
Sonam Pundir
यादें
यादें
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
दुनिया असाधारण लोगो को पलको पर बिठाती है
दुनिया असाधारण लोगो को पलको पर बिठाती है
ruby kumari
पिता के रिश्ते में फर्क होता है।
पिता के रिश्ते में फर्क होता है।
Taj Mohammad
बुद्ध को अपने याद करो ।
बुद्ध को अपने याद करो ।
Buddha Prakash
मेहनत करने की क्षमता के साथ आदमी में अगर धैर्य और विवेक भी ह
मेहनत करने की क्षमता के साथ आदमी में अगर धैर्य और विवेक भी ह
Paras Nath Jha
मूर्दों का देश
मूर्दों का देश
Shekhar Chandra Mitra
तन्हा ही खूबसूरत हूं मैं।
तन्हा ही खूबसूरत हूं मैं।
शक्ति राव मणि
जीतना
जीतना
Shutisha Rajput
नौजवानी फूल पर हर छा रही है (मुक्तक)
नौजवानी फूल पर हर छा रही है (मुक्तक)
Ravi Prakash
ये मेरे घर की चारदीवारी भी अब मुझसे पूछती है
ये मेरे घर की चारदीवारी भी अब मुझसे पूछती है
श्याम सिंह बिष्ट
जीवन में
जीवन में
Dr fauzia Naseem shad
कुण्डलिया के छंद में
कुण्डलिया के छंद में
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
-- प्यार --
-- प्यार --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
तेरी यादों की खुशबू
तेरी यादों की खुशबू
Ram Krishan Rastogi
तुम रट गये  जुबां पे,
तुम रट गये जुबां पे,
Satish Srijan
खता क्या हुई मुझसे
खता क्या हुई मुझसे
Krishan Singh
Loading...