Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#19 Trending Author

स्वाबलंबन

स्वाबलंबन मनुज का, उत्तम सुख का कारक है
धैर्य संयम पुरुषार्थ, मनुष्य जीवन का उद्धारक है
सदगुणों से संपन्न मनुज, जीवन में उन्नति करते हैं
सद्कर्मों में लगे मनुज, समाज राष्ट्र समृद्धि करते हैं
स्वावलंबी मनुष्य ही,जग में स्वतंत्र रह सकते हैं

2 Likes · 2 Comments · 40 Views
You may also like:
मजदूर की अंतर्व्यथा
Shyam Sundar Subramanian
मायका
Anamika Singh
✍️खुदगर्ज़ थे वो ख्वाब✍️
'अशांत' शेखर
खुशियाँ ही अपनी हैं
विजय कुमार अग्रवाल
भोर का नवगीत / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
एक प्रेम पत्र
Rashmi Sanjay
मेरे पापा जैसे कोई....... है न ख़ुदा
Nitu Sah
🌺🌺प्रकृत्या: आदि:-मध्य:-अन्त: ईश्वरैव🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
रहे न अगर आस तो....
डॉ.सीमा अग्रवाल
मेरे हर खूबसूरत सफर की मंज़िल हो तुम,
Vaishnavi Gupta
प्रेम पर्दे के जाने """"""""""""""""""""""'''"""""""""""""""""""""""""""""""""
Varun Singh Gautam
ईश्वर का खेल
Anamika Singh
✍️पलभर का इश्क़✍️
'अशांत' शेखर
जल जीवन - जल प्रलय
Rj Anand Prajapati
क्या तुम आजादी के नाम से, कुछ भी कर सकते...
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"कभी मेरा ज़िक्र छिड़े"
Lohit Tamta
प्रयोजन
Shiva Awasthi
बहुत हैं फायदे तुमको बतायेंगे मुहब्बत से।
सत्य कुमार प्रेमी
मिसाल (कविता)
Kanchan Khanna
राब्ते सबसे अपने
Dr fauzia Naseem shad
कभी-कभी / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
हिन्दी थिएटर के प्रमुख हस्ताक्षर श्री पंकज एस. दयाल जी...
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*विश्व योग का दिन पावन इक्कीस जून को आता(गीत)*
Ravi Prakash
हम हैं
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
घड़ी
AMRESH KUMAR VERMA
एसजेवीएन - बढ़ते कदम
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
मेरा भारत मेरा तिरंगा
Ram Krishan Rastogi
पुस्तक -कैवल्य की परिचयात्मक समीक्षा
Rashmi Sanjay
बेजुबान
Anamika Singh
महेनतकश इंसान हैं ... नहीं कोई मज़दूर....
Dr.Alpa Amin
Loading...