Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

सोच-सोच घबराता हूँ

ये सोच-सोच घबराता हूँ……..

पिता नही मेरी ताकत है वो,छाया में उनकी रहता हु
महफूज हु उनके संरक्षण में निडर होकर के जीता हूँ
छोड़ जायेंगे एक दिन अकेला,ख्याल से सहम जाता हूँ
टल न सकेगी ये अनहोनी, ये सोच-सोच घबराता हूँ……..

करुणा सागर, अथाह प्रेम, साश्वत देवी देख पाता हूँ
सर्वस्व लूटा दू चरणो में,न क़र्ज़ उसका चूका पाता हूँ
आँचल का साया बना रहे आजीवन छाया चाहता हूँ
किस क्षण रह जाऊँ बिलखता,ये सोच-सोच घबराता हूँ……..

प्राणप्रिय, जीवन संगनी, सुख दुःख की भागिनी
प्रेरणा की स्रोत है वो, मेरे जीवन की पतवार बनी
तुझ संग मिल कर जीवन रथ पार लगा जाता हु
टूट जायेगा बंधन जन्मो का,ये सोच-सोच घबराता हूँ……..

नवपल्लव मेरे जिगर के टुकड़े देख देख मुस्काता हूँ
किलकारियों से जिनकी घर आँगन को चहकाता हूँ
बन माली बगिया को खून पसीने से सींच सजाता हूँ
बिन माली के क्या होगा, ये सोच-सोच घबराता हूँ……..

__________डी. के. निवातियाँ ________

119 Views
You may also like:
दरिंदगी से तो भ्रूण हत्या ही अच्छी
Dr Meenu Poonia
पिता, पिता बने आकाश
indu parashar
मिठास- ए- ज़िन्दगी
AMRESH KUMAR VERMA
गौरैया
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
माँ, हर बचपन का भगवान
Pt. Brajesh Kumar Nayak
✍️हे शहीद भगतसिंग...!✍️
"अशांत" शेखर
इस तरहां ऐसा स्वप्न देखकर
gurudeenverma198
छोड़ दिए संस्कार पिता के, कुर्सी के पीछे दौड़ रहे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
आदमी कितना नादान है
Ram Krishan Rastogi
हम आजाद पंछी
Anamika Singh
अब कोई कुरबत नहीं
Dr. Sunita Singh
जबसे मुहब्बतों के तरफ़दार......
अश्क चिरैयाकोटी
आज की पत्रकारिता
Anamika Singh
क्या देखें हम...
सूर्यकांत द्विवेदी
चिन्ता और चिता में अन्तर
Ram Krishan Rastogi
पिता क्या है?
Varsha Chaurasiya
💐उत्कर्ष💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हम हैं
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
जीवन
Mahendra Narayan
✍️ये आज़माईश कैसी?✍️
"अशांत" शेखर
" सरोज "
Dr Meenu Poonia
ईद
Khushboo Khatoon
लोभ
AMRESH KUMAR VERMA
गीत... हो रहे हैं लोग
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
" शीतल कूलर
Dr Meenu Poonia
वो खुश हैं अपने हाल में...!!
Ravi Malviya
अपने मंजिल को पाऊँगा मैं
Utsav Kumar Aarya
💐 हे तात नमन है तुमको 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मैं बेटी हूँ।
Anamika Singh
माहौल
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...