Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

*!* सोच नहीं कमजोर है तू *!*

सोच नहीं कमजोर है तू, तेरी सोच से लक्ष्य तेरा तय हो
जो सोच लिया करके दिखला, बिन किए यहाँ नहीं जय हो
सोच नहीं………..
(1) गुजर गया है वक्त बहुत, बिन रुके और भी गुजरेगा
यहाँ इंतजार तेरा किसको, तू बता कि कब तू सुधरेगा
इतिहास में कितने दफन हुए, तू भी ना बचेगा ये भय हो सोच नहीं…………
(2) भीड़ भरी इस दुनियाँ में, कुछ नया सत्य लाकर दिखला
दुनियाँ जयकार करे तेरी, जो तू अखंड कुछ ले निकला
उच्च शिखर तुझे नमन करें, सागर पग धो-धो सुखमय हो
सोच नहीं…………
(3) सुना है सच्चाई से जग में, मानव ही घबराता है
जो सच्चाई धारण करता, वो नव इतिहास बनाता है
संसार कहे उसकी गाथा, निज जीवन उसका निर्भय हो
सोच नहीं………..
लेखक :- खैमसिंह सैनी
{ M.A, M.Ed, B.Ed }

4 Likes · 2 Comments · 590 Views
You may also like:
बॉलीवुड का अंधा गोरी प्रेम और भारतीय समाज पर इसके...
हरिनारायण तनहा
*कथावाचक श्री राजेंद्र प्रसाद पांडेय 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
सदियों बाद
Dr.Priya Soni Khare
**किताब**
Dr. Alpa H. Amin
बाबूजी! आती याद
श्री रमण
सरसी छंद और विधाएं
Subhash Singhai
Sweet Chocolate
Buddha Prakash
ज़रा सी देर में सूरज निकलने वाला है
Dr. Sunita Singh
*सोमनाथ मंदिर 【भक्ति-गीत】*
Ravi Prakash
अपनी क़िस्मत को फिर बदल कर देखते हैं
Muhammad Asif Ali
रिश्तों की बदलती परिभाषा
Anamika Singh
✍️अपना ही सवाल✍️
"अशांत" शेखर
【 23】 प्रकृति छेड़ रहा इंसान
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
श्रमिक
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
सोए है जो कब्रों में।
Taj Mohammad
!!*!! कोरोना मजबूत नहीं कमजोर है !!*!!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
तो पिता भी आसमान है।
Taj Mohammad
आदर्श ग्राम्य
Tnmy R Shandily
माँ गंगा
Anamika Singh
पत्नी जब चैतन्य,तभी है मृदुल वसंत।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
भ्रम है पाला
Dr. Alpa H. Amin
बाल वीर हनुमान
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हंसकर गमों को एक घुट में मैं इस कदर पी...
Krishan Singh
स्वादिष्ट खीर
Buddha Prakash
आया सावन - पावन सुहवान
Rj Anand Prajapati
मत बना किसी को अपनी कमजोरी
Krishan Singh
जिंदगी क्या है?
Ram Krishan Rastogi
नर्सिंग दिवस विशेष
हरीश सुवासिया
बेजुबान
Dhirendra Panchal
✍️प्रेम खेळ नाही बाहुल्यांचा✍️
"अशांत" शेखर
Loading...