Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 26, 2022 · 1 min read

सुहावना मौसम

जब मौसम होती सुहावनी
मन रहता सहृदय हमारा
कोई भी कार्य करने में हमें
प्रचुर मिलता मोद -आह्राद ।

दक्ष मौसम में चलती सुहावनी
पवने इस परिप्रेक्ष्य, धूम्राभ में
मानस करत डूबे रहे समंदर में
पाँक से पृथक न करता मानस ।

इस रज:स्राव में नर – नारी के
संग संग अधिकतर प्राणीवान
रहता सब आमोद – प्रमोद से
दीप्ति रुत लुभाता मानस को।

इस प्रवीण से आबोहवा में
चलती सदा तरावट पवने
ये पवने हर प्राणीवान को
देता आह्लाद जीवन हमें।

दीप्ति ऐसा भी संभव होता
हमेशा रहता यही रज:स्राव
एक -दो न सौ दिन, हमेशा
इस मौसम का दीवाना सब ।

1 Like · 88 Views
You may also like:
ज़िंदगी का सवाल होते हैं ।
Dr fauzia Naseem shad
सारी दुनिया से प्रेम करें, प्रीत के गांव वसाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
रमेश छंद "नन्ही गौरैया"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
नियमन
Shyam Sundar Subramanian
सफलता की कुंजी ।
Anamika Singh
सही दिशा में
Ratan Kirtaniya
*प्रिय सावन में मतवाली (गीतिका)*
Ravi Prakash
✍️सिर्फ मिसाले जिंदा रहेगी...!✍️
'अशांत' शेखर
$प्रीतम के दोहे
आर.एस. 'प्रीतम'
¡*¡ हम पंछी : कोई हमें बचा लो ¡*¡
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
हम बस देखते रहे।
Taj Mohammad
*जल महादेव मैं तुम्हें चढ़ाने आया हूॅं (भक्ति गीत)*
Ravi Prakash
स्वर कोकिला
AMRESH KUMAR VERMA
प्यार करने की कभी कोई उमर नही होती
Ram Krishan Rastogi
हमारी मां हमारी शक्ति ( मातृ दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
चलो जिन्दगी को।
Taj Mohammad
बहाना
Vikas Sharma'Shivaaya'
सितम पर सितम।
Taj Mohammad
मंजिल की तलाश
AMRESH KUMAR VERMA
पहले वाली मोहब्बत।
Taj Mohammad
*स्वर्गीय कैलाश चंद्र अग्रवाल की काव्य साधना में वियोग की...
Ravi Prakash
✍️सब खुदा हो गये✍️
'अशांत' शेखर
निस्वार्थ पापा
Shubham Shankhydhar
✍️तुम्हे...!✍️
'अशांत' शेखर
ज़रा सामने बैठो।
Taj Mohammad
*सोमनाथ मंदिर 【भक्ति-गीत】*
Ravi Prakash
जश्न आजादी का
Kanchan Khanna
कभी-कभी आते जीवन में...
डॉ.सीमा अग्रवाल
✍️भरोसा✍️
'अशांत' शेखर
मेरी प्यारी प्यारी बहिना
gurudeenverma198
Loading...