Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Feb 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-294💐

सुनिए,बजता रहेगा सिर्फ़ इक ग़म का राग,
न लगा सके मेरे दिल में इक फूलों का बाग,

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
46 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
गायें गौरव गान
गायें गौरव गान
surenderpal vaidya
अंतर्राष्ट्रीय जल दिवस
अंतर्राष्ट्रीय जल दिवस
डॉ.सीमा अग्रवाल
विवाद और मतभेद
विवाद और मतभेद
Shyam Sundar Subramanian
होंसला
होंसला
Shutisha Rajput
प्यार के सिलसिले
प्यार के सिलसिले
Basant Bhagwan Roy
मुझे धरा पर न आने देना
मुझे धरा पर न आने देना
Gouri tiwari
मौनता  विभेद में ही अक्सर पायी जाती है , अपनों में बोलने से
मौनता विभेद में ही अक्सर पायी जाती है , अपनों में बोलने से
DrLakshman Jha Parimal
जो गए छोड़कर तुमको गोया
जो गए छोड़कर तुमको गोया
Ranjana Verma
क्या यही प्यार है
क्या यही प्यार है
gurudeenverma198
औलाद
औलाद
Surinder blackpen
■ जिंदगी खुद ख्वाब
■ जिंदगी खुद ख्वाब
*Author प्रणय प्रभात*
क्यूँ ख़्वाबो में मिलने की तमन्ना रखते हो
क्यूँ ख़्वाबो में मिलने की तमन्ना रखते हो
'अशांत' शेखर
201…. देवी स्तुति (पंचचामर छंद)
201…. देवी स्तुति (पंचचामर छंद)
Rambali Mishra
💐प्रेम कौतुक-462💐
💐प्रेम कौतुक-462💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
इन  आँखों  के  भोलेपन  में  प्यार तुम्हारे  लिए ही तो सच्चा है।
इन आँखों के भोलेपन में प्यार तुम्हारे लिए ही तो सच्चा है।
Sadhnalmp2001
हिन्दी दोहा बिषय- न्याय
हिन्दी दोहा बिषय- न्याय
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
*न्याय-व्यवस्था : आठ दोहे*
*न्याय-व्यवस्था : आठ दोहे*
Ravi Prakash
होली
होली
Dr. Kishan Karigar
वो टूटता तारा भी कितनों की उम्मीदों का भार लिए खड़ा है,
वो टूटता तारा भी कितनों की उम्मीदों का भार लिए खड़ा है,
Manisha Manjari
*वो मेरी जान, मुझे बहुत याद आती है*
*वो मेरी जान, मुझे बहुत याद आती है*
Dushyant Kumar
गजल
गजल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
सब्र रख
सब्र रख
VINOD KUMAR CHAUHAN
एहसास पर लिखे अशआर
एहसास पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
जो लम्हें प्यार से जिया जाए,
जो लम्हें प्यार से जिया जाए,
Buddha Prakash
डॉ भीमराव अम्बेडकर
डॉ भीमराव अम्बेडकर
नूरफातिमा खातून नूरी
दोहावली
दोहावली
Prakash Chandra
बिखरने की सौ बातें होंगी,
बिखरने की सौ बातें होंगी,
Vishal babu (vishu)
ऐ मौत
ऐ मौत
Ashwani Kumar Jaiswal
गुंडागर्दी
गुंडागर्दी
Shekhar Chandra Mitra
अंध विश्वास - मानवता शर्मसार
अंध विश्वास - मानवता शर्मसार
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Loading...