Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

सीखने का हुनर

सीखने का हुनर नहीं आता ।
ग़लतियाँ हम अगर नहीं करते ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

5 Likes · 65 Views
You may also like:
उसे देख खिल जातीं कलियांँ
श्री रमण 'श्रीपद्'
किरदार
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
तू कहता क्यों नहीं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
आया रक्षाबंधन का त्योहार
Anamika Singh
अब आ भी जाओ पापाजी
संदीप सागर (चिराग)
पिता का सपना
श्री रमण 'श्रीपद्'
मर गये ज़िंदगी को
Dr fauzia Naseem shad
हमें अब राम के पदचिन्ह पर चलकर दिखाना है
Dr Archana Gupta
ज़िंदगी में न ज़िंदगी देखी
Dr fauzia Naseem shad
जब गुलशन ही नहीं है तो गुलाब किस काम का...
लवकुश यादव "अज़ल"
आज तन्हा है हर कोई
Anamika Singh
विचार
साहित्य लेखन- एहसास और जज़्बात
तप रहे हैं प्राण भी / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
इस दर्द को यदि भूला दिया, तो शब्द कहाँ से...
Manisha Manjari
क्यों हो गए हम बड़े
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जिन्दगी का सफर
Anamika Singh
मेरा खुद पर यकीन न खोता
Dr fauzia Naseem shad
इन्सानियत ज़िंदा है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
मिसाले हुस्न का
Dr fauzia Naseem shad
पितृ स्तुति
दुष्यन्त 'बाबा'
जीवन के उस पार मिलेंगे
Shivkumar Bilagrami
पापा क्यूँ कर दिया पराया??
Sweety Singhal
एक पनिहारिन की वेदना
Ram Krishan Rastogi
बूँद-बूँद को तरसा गाँव
ईश्वर दयाल गोस्वामी
क्या मेरी कलाई सूनी रहेगी ?
Kumar Anu Ojha
गिरधर तुम आओ
शेख़ जाफ़र खान
मृत्यु या साजिश...?
मनोज कर्ण
बदल जायेगा
शेख़ जाफ़र खान
"खुद की तलाश"
Ajit Kumar "Karn"
कैसे मैं याद करूं
Anamika Singh
Loading...