Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#27 Trending Author
May 7, 2022 · 1 min read

“साहिल”

कुछ तो ऐसा होता हैं
जिससे मन हमारा अनजान हैं
हैं कोई ऐसी ताकत जो…
देती हवा को वेग हैं..!
चले हैं संसार… मिले हैं सभी को श्वास..!!
हैं वो गजब की शक्ति
जो….स्वरूप बदलकर
अलग अगल अंदाजमें
नित नित नई भूमिका अदाकार
प्रकृति को पाले हैं…
कहाँ से आये….?
कहाँ गायब हो जाये…?
नहीं यहाँ कोई समझ पाएं..!
फिर.. भी लालनपालन कर…
हर एक लम्हें सर्जन, विसर्जन के सागर का
साहिल बन जग को उगारे…!!!!

113 Views
You may also like:
तमन्नाओं का संसार
DESH RAJ
सूरज की पहली किरण
DESH RAJ
बहते हुए लहरों पे
Nitu Sah
जब भी तन्हाईयों में
Dr fauzia Naseem shad
नरसिंह अवतार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
तेरा चलना ओए ओए ओए
D.k Math
खुशबू
DESH RAJ
" अखंड ज्योत "
Dr Meenu Poonia
सोए है जो कब्रों में।
Taj Mohammad
गर्मी का रेखा-गणित / (समकालीन नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
एक थे वशिष्ठ
Suraj Kushwaha
पापा करते हो प्यार इतना ।
Buddha Prakash
सहारा हो तो पक्का हो किसी को।
सत्य कुमार प्रेमी
जला दिए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
महाप्रभु वल्लभाचार्य जयंती
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पंछी हमारा मित्र
AMRESH KUMAR VERMA
अगर तुम खुश हो।
Taj Mohammad
नर्सिंग दिवस पर नमन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दर्द को मायूस करना चाहता हूँ
Sanjay Narayan
देखो हाथी राजा आए
VINOD KUMAR CHAUHAN
💐प्रेम की राह पर-29💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
[ कुण्डलिया]
शेख़ जाफ़र खान
ભીની ભીની લાગણી.....
Dr. Alpa H. Amin
✍️मैं जब पी लेता हूँ✍️
"अशांत" शेखर
🍀🌺प्रेम की राह पर-43🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
“ राजा और प्रजा ”
DESH RAJ
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
अहंकार
AMRESH KUMAR VERMA
मंदिर
जगदीश लववंशी
चलो एक पत्थर हम भी उछालें..!
मनोज कर्ण
Loading...