Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

सावन की पहली बूँद

कुंज-वीथियों, उपवनों मे चारों ओर था सन्नाटा,
उदासीन थे समस्त तरुणगण से लेकर खेत-खाहिलन तक,
राह देख रहे थे सावन की पहली बूँद की,

प्यासी थी धरती माँ,
बिलख रहे थे मोती भी समुद्र में,
राह देख रहे थे सावन की पहली बूँद की,

सूख चुका था मेरे उपवन का सरोवर,
आँसू थे उन नन्ही कलियों की आँखों में,
राह देख रही थी वे भी सावन की पहली बूँद की,

आई सावन की पहली बूँद,
प्रफुल्लित हो उठी कलियाँ,
आगमन हुआ लाल पुष्पों का,

आई सावन की पहली बूँद,
सपने संजोने लगी मैं,
मन आंनद से नाच उठा मेरा,

समर्पित करूँगी नरेश को लाल पुष्प,
लूँगी मुहमाँगी कीमत,
सौगात है यही सावन की पहली बूँद की ,

पूछने लगी तितली हज़ारों सवाल मुझसे,
क्यों लगा रहा है बोली ? यही तो लाए खुशियाँ,
जलज सरोवर खिल उठते,तरु दल नाच उठते इनसे,

सावन की वे पहली बूँदें भी बोल उठी,
मत लगा मेरी बोली, अर्पित कर पुष्पों को उन योद्धाओं के चरणों मे,
जो कर रहे निस्वार्थ सेवा देश की,
सहसा आँख खुली मेरो दूटा स्वप्न, किया वादा सावन की पहली बूँद से
नहीं हार मानेगे, करेगे समाना हर मुशिकल का हम,

वट-वृक्ष के सघन कुंजों से पंछी भी बोल उठे,
पवन की लहरे भी बोल उठी,
यही तो यह सच्ची सौगात है सावन की पहली बूँद की ……

17 Likes · 26 Comments · 749 Views
You may also like:
उड़ चले नीले गगन में।
Taj Mohammad
" अत्याचारी युद्ध "
Dr Meenu Poonia
नदी को बहने दो
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
रोमांस है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मत छुपाओ हकीकत
gurudeenverma198
चाहत
Lohit Tamta
बेजुबान जानवर अपने दोस्त
Manoj Tanan
#15_जून
Ravi Prakash
हे ! धरती गगन केऽ स्वामी...
मनोज कर्ण
"रक्षाबंधन पर्व"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
मुझसे मेरा हाल न पूछे
Shiva Awasthi
याद पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
वात्सल्य का शजर
सिद्धार्थ गोरखपुरी
कहानी *"ममता"* पार्ट-3 लेखक: राधाकिसन मूंधड़ा, सूरत।
radhakishan Mundhra
“ ईमानदार चोर ”
DrLakshman Jha Parimal
दो जून की रोटी उसे मयस्सर
श्री रमण 'श्रीपद्'
दामन भी अपना
Dr fauzia Naseem shad
तिश्ना तिश्ना सा है आज नफ्स मेरा।
Taj Mohammad
शामिल इबादतो में
Dr fauzia Naseem shad
सावन की बौछार
सिद्धार्थ गोरखपुरी
✍️✍️जिंदगी✍️✍️
'अशांत' शेखर
मोहब्बत ना कर .......
J_Kay Chhonkar
दोस्ती का हर दिन ही
Dr fauzia Naseem shad
रावण - विभीषण संवाद (मेरी कल्पना)
Anamika Singh
# क्रांति का वो दौर
Seema Tuhaina
सहज बने गह ज्ञान,वही तो सच्चा हीरा है ।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कोई रिश्ता मुझे
Dr fauzia Naseem shad
शम्बूक हत्या! सत्य या मिथ्या?
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
" स्वतंत्रता क्रांति के सिंह पुरुष पंडित दशरथ झा "
DrLakshman Jha Parimal
Feel it and see that
Taj Mohammad
Loading...