Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 20, 2022 · 1 min read

* साम वेदना *

डॉ अरुण कुमार शास्त्री एक अबोध बालक – अरुण अतृप्त

* साम वेदना *

दर्द छुपा जिन आँखों में
उन आँखों की बरसात लिखुँ
या फिर लूट रहे मानव
बन दानव उन कुकर्मों का
इतिहास लिखुँ
डूब न जाए ये दुनिया
जो सत्य अटल परिहास लिखूं
समझ नहीं आता मुझको मैं
किस किस का
कर्म विहान लिखूं ||

सोच रहा हूँ रहने दूँ
काहे झंनझट में पडूँ व्यथा
जिसकी करनी वो भुगतेगा
मैं व्यर्थ कुचक्री के
पथ में कंटक कर्म
प्रयास , बनूँ ||

तुम काहे व्यर्थ कटु वचनों से
अपना भाव प्रतान लिखूं
दर्द छुपा जिन आँखों में
उन आँखों की बरसात लिखुँ
या फिर लूट रहे मानव
बन दानव उन कुकर्मों
का इतिहास लिखुँ ||

लूट रहा है नौच रहा है
गिद्ध रूप धर ये मानव
इंसानी पीड़ा को ही
समझ रहा मौक़ा मानव।
संसाधन की कमी को
देखो कैसे धन अर्जन ही मान लिया।
धर्म कार्य करने थे जिस पल
उस पल को संचय संज्ञान लिया ||

स्याही रो रही, कलम बिलख रही
शब्द मेरे चुक आये हैं
लिख न सकूं अब और मैं आगे
पोर पोर हैं दुःख आये
दर्द छुपा जिन आँखों में
उन आँखों की बरसात लिखुँ
या फिर लूट रहे मानव
बन दानव उन कुकर्मों का
इतिहास लिखुँ

88 Views
You may also like:
उसूल
Ray's Gupta
गर्दिशे जहाँ पा गये।
Taj Mohammad
सुरत और सिरत
Anamika Singh
खंडहर में अब खोज रहे ।
Buddha Prakash
सियासत की बातें
Dr. Sunita Singh
तड़फ
Harshvardhan "आवारा"
#मेरी दोस्त खास है
Seema Tuhaina
✍️सब खुदा हो गये✍️
'अशांत' शेखर
मुंशी प्रेमचंद, एक प्रेरणा स्त्रोत
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
जवानी
Dr.sima
✍️बात बात में..✍️
'अशांत' शेखर
अभिलाषा
Anamika Singh
बदलती दुनिया
AMRESH KUMAR VERMA
लकड़ी में लड़की / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
संविधान की गरिमा
Buddha Prakash
अपनी भाषा
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
नहीं बचेगी जल विन मीन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
एक पैगाम मित्रों के नाम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मजदूर_दिवस_पर_विशेष
संजीव शुक्ल 'सचिन'
गीत... कौन है जो
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
✍️कृपया पुरुस्कार डाक से भिजवा दो!✍️
'अशांत' शेखर
स्वयं में एक संस्था थे श्री ओमकार शरण ओम
Ravi Prakash
आज नहीं तो कल होगा / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️किताबें और इंसान✍️
'अशांत' शेखर
*कथावाचक श्री राजेंद्र प्रसाद पांडेय 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
पिता का प्यार
pradeep nagarwal
जिन्दगी मे कोहरा
Anamika Singh
प्रात का निर्मल पहर है
मनोज कर्ण
बुन रही सपने रसीले / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जीवन की सौगात "पापा"
Dr.Alpa Amin
Loading...