Oct 7, 2016 · 1 min read

साजिशें लाख कर लो(ग़जल)/मंदीप

साजिशे लाख कर लो हम को दिल से निकाल नही पाओगें,
छोड़ कर दामन मेरा गैर का थाम ना पाओगे।

मिलेगी जहाँ भी तुम को रुस्वाई ,
लौट कर तुम मेरे पास ही आओगे।

होगा जब भी दौर आँसुओ का,
तुम को हम ही गले से लगायेगे।

होगा नही जिस दिन मै यहाँ,
मेरी यादो के साथ तुम अपने मन को बहलाओगे।

था “मंदीप” को प्यार कितना तुम से,
एक दिन तुम इस जहान को बताओगे।

मंदीपसाई

143 Views
You may also like:
इंसाफ के ठेकेदारों! शर्म करो !
ओनिका सेतिया 'अनु '
सच में ईश्वर लगते पिता हमारें।।
Taj Mohammad
सोचता रहता है वह
gurudeenverma198
લંબાવને 'તું' તારો હાથ 'મારા' હાથમાં...
Dr. Alpa H.
【34】*!!* आग दबाये मत रखिये *!!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
माँ की महिमाँ
Dr. Alpa H.
दर्द भरे गीत
Dr.sima
हमारी जां।
Taj Mohammad
ज़िंदगी मयस्सर ना हुई खुश रहने की।
Taj Mohammad
अंकपत्र सा जीवन
सूर्यकांत द्विवेदी
💐प्रेम की राह पर-30💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जुल्म
AMRESH KUMAR VERMA
*मौसम प्यारा लगे (वर्षा गीत )*
Ravi Prakash
भगवान श्री परशुराम जयंती
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मै पैसा हूं दोस्तो मेरे रूप बने है अनेक
Ram Krishan Rastogi
धुँध
Rekha Drolia
ये जज़्बात कहां से लाते हो।
Taj Mohammad
प्रयास
Dr.sima
पंडित मदन मोहन व्यास की कुंडलियों में हास्य का पुट
Ravi Prakash
परीक्षा को समझो उत्सव समान
ओनिका सेतिया 'अनु '
कहां जीवन है ?
Saraswati Bajpai
बेटी का पत्र माँ के नाम
Anamika Singh
मैं
Saraswati Bajpai
कहां चला अरे उड़ कर पंछी
VINOD KUMAR CHAUHAN
नई तकदीर
मनोज कर्ण
🌷मनोरथ🌷
पंकज कुमार "कर्ण"
पर्यावरण बचा लो,कर लो बृक्षों की निगरानी अब
Pt. Brajesh Kumar Nayak
अथर्व को जन्म दिन की शुभकामनाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मुक्तक- उनकी बदौलत ही...
आकाश महेशपुरी
🌺🌺🌺शायद तुम ही मेरी मंजिल हो🌺🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...