Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Jul 2022 · 1 min read

सही गलत का

सुलगती ख़्वाहिशों का
बस कमाल होता है ।
सही-गलत का कहां
फिर सवाल होता है ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
7 Likes · 143 Views
You may also like:
क्यों मार दिया,सिद्दू मूसावाले को
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जिन्दगी का मामला।
Taj Mohammad
दीप बनकर जलो तुम
surenderpal vaidya
हर घर तिरंगा
Dr Archana Gupta
"बारिश संग बदरिया"
Dr Meenu Poonia
औरत
shabina. Naaz
आग़ाज़
Shyam Sundar Subramanian
तुम मेरे मालिक मेरे सरकार कन्हैया
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
प्यार की चिट्ठी
Shekhar Chandra Mitra
समय के संग परिवर्तन
AMRESH KUMAR VERMA
खैरियत का जवाब आया
Seema 'Tu hai na'
गुणगान क्यों
spshukla09179
सपने जब पलकों से मिलकर नींदें चुराती हैं, मुश्किल ख़्वाबों...
Manisha Manjari
बेटी से मुस्कान है...
जगदीश लववंशी
चाँदनी रातें (विधाता छंद)
HindiPoems ByVivek
मातृ रूप
श्री रमण 'श्रीपद्'
प्यार क्या बला की चीज है!
Anamika Singh
*फहराऍं आज तिरंगा (देशभक्ति गीत)*
Ravi Prakash
✍️वो कहना ही भूल गया✍️
'अशांत' शेखर
राब्ते सबसे अपने
Dr fauzia Naseem shad
मय है मीना है साकी नहीं है।
सत्य कुमार प्रेमी
सम्मान करो एक दूजे के धर्म का ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
“IF WE WRITE, WRITE CORRECTLY “
DrLakshman Jha Parimal
नमन!
Shriyansh Gupta
आपकी तरहां मैं भी
gurudeenverma198
है आया पन्द्रह अगस्त है।।
पाण्डेय चिदानन्द
प्रेम के रिश्ते
Rashmi Sanjay
आँखों में आँसू लेकर सोया करते हो
Gouri tiwari
आकर मेरे ख्वाबों में, पर वे कहते कुछ नहीं
Ram Krishan Rastogi
मजदूर.....
Chandra Prakash Patel
Loading...