Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

सरस्‍वती वंदना

1
वीणापाणि नमन करूँ, धरूँ ध्‍यान निस्‍स्‍वार्थ।
यथाशक्ति सेवा करूँ, करूँ खूब परमार्थ।
करूँ खूब परमार्थ, बनें जड़बुद्धि सचेतन।
चले कलम अनवरत, न कोई हो निश्‍चेतन।
ऐसा वर दो मातु, रहें सुख से सब प्राणि।
शब्‍द ज्ञान विस्‍तार, हो सबका वीणापाणि।।

2
वर दो ऐसा शारदे, नमन करूँ ले आस।
हटे तिमिर अज्ञान का, और बढ़े विश्‍वास।
और बढ़े विश्‍वास, ज्ञान की गंगा जमुना।
बहे हवा साहित्‍य, सुधारस की किं बहुना।
कह ‘आकुल’ कविराय, मधुमयी रसना कर दो।
मिलजुल कर सब रहें, शारदे ऐसा वर दो।।

218 Views
You may also like:
"वो पिता मेरे, मै बेटी उनकी"
रीतू सिंह
You are my life.
Taj Mohammad
A Warrior Of The Darkness
Manisha Manjari
पुस्तक
AMRESH KUMAR VERMA
मनुज शरीरों में भी वंदा, पशुवत जीवन जीता है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
धागा भाव-स्वरूप, प्रीति शुभ रक्षाबंधन
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जी, वो पिता है
सूर्यकांत द्विवेदी
$दोहे- हरियाली पर
आर.एस. 'प्रीतम'
दुनिया
Rashmi Sanjay
“माँ भारती” के सच्चे सपूत
DESH RAJ
प्रेम
Vikas Sharma'Shivaaya'
तोड़कर मुझे न देख
अरशद रसूल /Arshad Rasool
माँ
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हर अश्क कह रहा है।
Taj Mohammad
ठोकर तमाम खा के....
अश्क चिरैयाकोटी
तुम्हारा प्यार अब नहीं मिलता।
सत्य कुमार प्रेमी
रोना भी बहुत जरूरी है।
Taj Mohammad
कायनात से दिल्लगी कर लो।
Taj Mohammad
जिस नारी ने जन्म दिया
VINOD KUMAR CHAUHAN
दुआएं करेंगी असर धीरे- धीरे
Dr Archana Gupta
फर्क पिज्जा में औ'र निवाले में।
सत्य कुमार प्रेमी
✍️"सूरज"और "पिता"✍️
"अशांत" शेखर
कुरान की आयत।
Taj Mohammad
ये जिन्दगी एक तराना है।
Taj Mohammad
वेदों की जननी... नमन तुझे,
मनोज कर्ण
" नाखून "
Dr Meenu Poonia
दोहा में लय, समकल -विषमकल, दग्धाक्षर , जगण पर विचार...
Subhash Singhai
✍️आखरी सफर पे हूँ...✍️
"अशांत" शेखर
एक किताब लिखती हूँ।
Anamika Singh
मिट्टी की कीमत
निकेश कुमार ठाकुर
Loading...