Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

समाज की तस्वीर

समाज की तस्वीर हो
समाज की तक़दीर हो
महान तुम बनो सदा
महानकार्य करो सदा

जाना है दूर तुम्हे
नए जगत की नीवं हो
आलस को त्यागो सदा
संगत में रहो सदा

हवाओं का रुख बदल रहा
नए जंहा की शुरुवात है
विश्वास से भरो सदा
समझ से देखो सदा

प्रोफ़ेसर दिनेश गुप्ता
8007179747

102 Views
You may also like:
बंकिम चन्द्र प्रणाम
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बूंद बूंद में जीवन है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
आज के रिश्ते!
Anamika Singh
खैरियत का जवाब आया
Seema Tuhaina
देश की पहचान हमसे
Dr fauzia Naseem shad
पुस्तक समीक्षा "छायावाद के गीति-काव्य"
दुष्यन्त 'बाबा'
सुन ज़िन्दगी!
Shailendra Aseem
"क़तरा"
Ajit Kumar "Karn"
परिवार दिवस
Dr Archana Gupta
भारतवर्ष
Utsav Kumar Aarya
गर तू होता क़िताब।
Taj Mohammad
लिपि सभक उद्भव आओर विकास
श्रीहर्ष आचार्य
“ हृदयक गप्प ”
DrLakshman Jha Parimal
भारतीय संस्कृति के सेतु आदि शंकराचार्य
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
न्याय
Vijaykumar Gundal
*ध्यान में निराकार को पाना (भक्ति गीत)*
Ravi Prakash
ग़ज़ल- कहां खो गये- राना लिधौरी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
अब आ भी जाओ पापाजी
संदीप सागर (चिराग)
//स्वागत है:२०२२//
Prabhudayal Raniwal
चिंता और चिता
VINOD KUMAR CHAUHAN
हो तुम किसी मंदिर की पूजा सी
Rj Anand Prajapati
हम जिधर जाते हैं
Dr fauzia Naseem shad
अनुपम माँ का स्नेह
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
ग़र वो है बेवफ़ा बेवफ़ा ही सही
Mahesh Ojha
"पिता का जीवन"
पंकज कुमार "कर्ण"
“ यादों के सहारे ”
DrLakshman Jha Parimal
शिखर छुऊंगा एक दिन
AMRESH KUMAR VERMA
मैं हासिल नही हूं।
Taj Mohammad
सबको जीवन में खुशियां लुटाते रहे।
सत्य कुमार प्रेमी
“ खाइतो छी आ गुंगुअवैत छी “
DrLakshman Jha Parimal
Loading...