Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Oct 2022 · 1 min read

समर

जीवन बेकार ही सही,
धरा पर उधार ही सही,
वरक के गिरने से वृक्ष नही गिरा करते,
चक्रवातों से भूधर नही हिला करते !!

पिनाक न सही भुजा में बाण तो है,
रक्त न सही देह में प्राण तो है…
हार के भय से शूर नही झुक सकता है,
संघर्ष का समर नही कभी रुक सकता है !

मार्तंड

Language: Hindi
1 Like · 334 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
--पागल खाना ?--
--पागल खाना ?--
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
गरीबी की उन दिनों में ,
गरीबी की उन दिनों में ,
Yogendra Chaturwedi
🌙Chaand Aur Main✨
🌙Chaand Aur Main✨
Srishty Bansal
मोरे मन-मंदिर....।
मोरे मन-मंदिर....।
Kanchan Khanna
तेरे भीतर ही छिपा,
तेरे भीतर ही छिपा,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
" तुम खुशियाँ खरीद लेना "
Aarti sirsat
नींद का चुरा लेना बड़ा क़ातिल जुर्म है
नींद का चुरा लेना बड़ा क़ातिल जुर्म है
'अशांत' शेखर
My life's situation
My life's situation
Sukoon
एक ग़ज़ल यह भी
एक ग़ज़ल यह भी
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
मां के आँचल में
मां के आँचल में
Satish Srijan
छतें बुढापा, बचपन आँगन
छतें बुढापा, बचपन आँगन
*Author प्रणय प्रभात*
वो कालेज वाले दिन
वो कालेज वाले दिन
Akash Yadav
यादों का बसेरा है
यादों का बसेरा है
Shriyansh Gupta
- रिश्तों को में तोड़ चला -
- रिश्तों को में तोड़ चला -
bharat gehlot
*रामपुर से प्रकाशित हिंदी साप्ताहिक पत्रों से मेरा संबंध*
*रामपुर से प्रकाशित हिंदी साप्ताहिक पत्रों से मेरा संबंध*
Ravi Prakash
स्वप्न श्रृंगार
स्वप्न श्रृंगार
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
💐प्रेम कौतुक-235💐
💐प्रेम कौतुक-235💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सरकार~
सरकार~
दिनेश एल० "जैहिंद"
पुरानी पेंशन
पुरानी पेंशन
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
जीत वो सकते हैं कैसे
जीत वो सकते हैं कैसे
Dr fauzia Naseem shad
3178.*पूर्णिका*
3178.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
“तब्दीलियां” ग़ज़ल
“तब्दीलियां” ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
दिल में कुण्ठित होती नारी
दिल में कुण्ठित होती नारी
Pratibha Pandey
ग़ज़ल
ग़ज़ल
प्रीतम श्रावस्तवी
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
कमबख़्त इश़्क
कमबख़्त इश़्क
Shyam Sundar Subramanian
एक अबोध बालक
एक अबोध बालक
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बेशक खताये बहुत है
बेशक खताये बहुत है
shabina. Naaz
वृद्धाश्रम में कुत्ता / by AFROZ ALAM
वृद्धाश्रम में कुत्ता / by AFROZ ALAM
Dr MusafiR BaithA
सारी गलतियां ख़ुद करके सीखोगे तो जिंदगी कम पड़ जाएगी, सफलता
सारी गलतियां ख़ुद करके सीखोगे तो जिंदगी कम पड़ जाएगी, सफलता
dks.lhp
Loading...