Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 30, 2021 · 1 min read

समर्पण और श्रेय

पेट औरत का, असहनीय प्रसव पीड़ा औरत की।
पर उत्पन्न संतान पुरुष के नाम का ।
सिर औरत की, सिंदूर औरत की
मांग पुरुष के नाम का ।

घर संभालना, खाना बनाना, सभी की छोटी मोटी जरूरते
पूरी करना काम औरत का ।
घर का मुखिया, पालनकर्ता, नाम पुरुष का ।

स्कूल के पंजी में, हरेक दस्तावेज में, नाम पिता का ।
मुन्ना प्रथम आये, नाम रोशन पिता का ।
मुन्ना गलतियां करे, कक्षा में फेल हो जाये ।
लापरवाही, परवरिश माता की ।
जब इतना ही सब पुरुष के नाम का ।
तो पुरुष के पास क्या है औरत के नाम का ।

गोविन्द उईके

153 Views
You may also like:
बहुमत
मनोज कर्ण
कविराज
Buddha Prakash
एक नज़म [ बेकायदा ]
DR ARUN KUMAR SHASTRI
रोज हम इम्तिहां दे सकेंगे नहीं
Dr Archana Gupta
मजदूर की रोटी
AMRESH KUMAR VERMA
✍️मातम और सोग है...!✍️
'अशांत' शेखर
कौन आएगा
Dhirendra Panchal
जिन्दगी से क्या मिला
Anamika Singh
कर्म ही पूजा है।
Anamika Singh
💐प्रेम की राह पर-53💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
✍️साबिक़-दस्तूर✍️
'अशांत' शेखर
# हमको नेता अब नवल मिले .....
Chinta netam " मन "
शिक्षक को शिक्षण करने दो
Sanjay Narayan
Heart Wishes For The Wave.
Manisha Manjari
महापंडित ठाकुर टीकाराम 18वीं सदीमे वैद्यनाथ मंदिर के प्रधान पुरोहित
श्रीहर्ष आचार्य
फर्क पिज्जा में औ'र निवाले में।
सत्य कुमार प्रेमी
क्या कुछ नहीं है मेरे पास
gurudeenverma198
दुर्योधन कब मिट पाया:भाग:38
AJAY AMITABH SUMAN
करवा चौथ
Manoj Tanan
शेखर जी आपके लिए कुछ अल्फाज़।
Taj Mohammad
*जो हुकुम सरकार (गीतिका)*
Ravi Prakash
सिंधु का विस्तार देखो
surenderpal vaidya
ज़िंदगी तेरे मिज़ाज के
Dr fauzia Naseem shad
बिछड़न [भाग ३]
Anamika Singh
✍️भरोसा✍️
'अशांत' शेखर
दोस्त हो जो मेरे पास आओ कभी।
सत्य कुमार प्रेमी
💐💐प्रेम की राह पर-50💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ऐसा ही होता रिश्तों में पिता हमारा...!!
Taj Mohammad
ख्वाहिश है।
Taj Mohammad
तुम्हारा प्यार अब नहीं मिलता।
सत्य कुमार प्रेमी
Loading...