Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

समय।

समय।

यह समय—
वापस नहीं आएगा फिर,
पछताएंगे हम—
जब मुड़कर देखेंगे अतीत की ओर।
मलेंगे हाथ अपनी अकर्मण्यता पर,
पर नहीं होगा कुछ पास तब,
सिवाय पछतावे के।
ढूंढेंगे रास्ता —
पर नहीं मिलेगी,
हमारी मनचाही मंजिल।
खाएंगे हम दर-दर की ठोकरें,
तब होगा आभास—
क्या खोया हमने समय की गरिमा को ठुकराकर।
फड़फड़ाएंगे हम—
पिंजरे में बंद पंछियों की तरह।
बंध जाएंगे काल की डोर से,
नहीं मिलेगी आजादी—
खुले आसमान में घूमने की।
अपना रास्ता खोजते खोजते-
थम जाएंगे हम यहां।
पर यह समय नहीं थमेगा।
यह तो निरंतर बढ़ता ही जाएगा,
आगे——-आगे————–और आगे।।

रचना-मौलिक एवं स्वरचित
निकेश कुमार ठाकुर
सं०- 9534148597

6 Likes · 9 Comments · 481 Views
You may also like:
अग्नि पथ के अग्निवीर
Anamika Singh
कॉर्पोरेट जगत और पॉलिटिक्स
AJAY AMITABH SUMAN
रोटी संग मरते देखा
शेख़ जाफ़र खान
कहानी *"ममता"* पार्ट-2 लेखक: राधाकिसन मूंधड़ा, सूरत।
radhakishan Mundhra
मूक प्रेम
Rashmi Sanjay
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
हम भी हैं महफ़िल में।
Taj Mohammad
हमदर्द हो जो सबका मददगार चाहिए।
सत्य कुमार प्रेमी
💐प्रेम की राह पर-28💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ख्वाब
Swami Ganganiya
निगाह-ए-यास कि तन्हाइयाँ लिए चलिए
शिवांश सिंघानिया
सच्चे मित्र की पहचान
Ram Krishan Rastogi
'जिंदगी'
Godambari Negi
रामायण आ रामचरित मानस मे मतभिन्नता -खीर वितरण
Rama nand mandal
बरसात
मनोज कर्ण
दर्द पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
💐💐सुषुप्तयां 'मैं' इत्यस्य भासः न भवति💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मार्मिक फोटो
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
Keep faith in GOD and yourself.
Taj Mohammad
तेरी सुंदरता पर कोई कविता लिखते हैं।
Taj Mohammad
रामपुर में दंत चिकित्सा की आधी सदी के पर्याय डॉ....
Ravi Prakash
कभी सोचा ना था मैंने मोहब्बत में ये मंजर भी...
Krishan Singh
अराजकता बंद करो ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
✍️"नंगे को खुदा डरे"✍️
"अशांत" शेखर
Think
सिद्धार्थ गोरखपुरी
गुरु चरण
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ग़ज़ल- कहां खो गये- राना लिधौरी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
बस तुम को चाहते हैं।
Taj Mohammad
भूख सी बेबसी नहीं देखी
Dr fauzia Naseem shad
" सरोज "
Dr Meenu Poonia
Loading...