Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Feb 2023 · 1 min read

समय पर संकल्प करना…

आज का भारत ‘होता है, चलता है, ऐसे ही चलेगा’ वाली मानसिकता से बाहर निकल चुका है।

आज भारत ‘करना है’ ‘करना ही है’ और

समय पर करना है’ का संकल्प रखता है

**प्रधानमंत्री श्री Narendra Modi जी**

Language: English
1 Like · 156 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हे कृष्ण! फिर से धरा पर अवतार करो।
हे कृष्ण! फिर से धरा पर अवतार करो।
लक्ष्मी सिंह
अपेक्षा किसी से उतनी ही रखें
अपेक्षा किसी से उतनी ही रखें
Paras Nath Jha
देवता सो गये : देवता जाग गये!
देवता सो गये : देवता जाग गये!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
आत्महीनता एक अभिशाप
आत्महीनता एक अभिशाप
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
प्रश्न पूछता है यह बच्चा
प्रश्न पूछता है यह बच्चा
अटल मुरादाबादी, ओज व व्यंग कवि
पसंदीदा व्यक्ति के लिए.........
पसंदीदा व्यक्ति के लिए.........
Rahul Singh
वो दो साल जिंदगी के (2010-2012)
वो दो साल जिंदगी के (2010-2012)
Shyam Pandey
दुःखडा है सबका अपना अपना
दुःखडा है सबका अपना अपना
gurudeenverma198
बहुत यत्नों से हम
बहुत यत्नों से हम
DrLakshman Jha Parimal
वक़्त की फ़ितरत को
वक़्त की फ़ितरत को
Dr fauzia Naseem shad
वक्त बदलता रहता है
वक्त बदलता रहता है
Anamika Singh
*इश्क़ न हो किसी को*
*इश्क़ न हो किसी को*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
🙏 अज्ञानी की कलम🙏
🙏 अज्ञानी की कलम🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
गायें गौरव गान
गायें गौरव गान
surenderpal vaidya
फितरत अमिट जन एक गहना🌷🌷
फितरत अमिट जन एक गहना🌷🌷
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
हाल मत पूछो
हाल मत पूछो
Shekhar Chandra Mitra
*सर्दी में नेता चले {हास्य कुंडलिया}*
*सर्दी में नेता चले {हास्य कुंडलिया}*
Ravi Prakash
करुणा का भाव
करुणा का भाव
shekhar kharadi
✍️आज तारीख 7-7✍️
✍️आज तारीख 7-7✍️
'अशांत' शेखर
स्वयं से तकदीर बदलेगी समय पर
स्वयं से तकदीर बदलेगी समय पर
महेश चन्द्र त्रिपाठी
खिचड़ी
खिचड़ी
Satish Srijan
भाग्य
भाग्य
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
डर डर के उड़ रहे पंछी
डर डर के उड़ रहे पंछी
डॉ. शिव लहरी
"किस किस को वोट दूं।"
Dushyant Kumar
पाप बढ़ा वसुधा पर भीषण, हस्त कृपाण  कटार  धरो माँ।
पाप बढ़ा वसुधा पर भीषण, हस्त कृपाण कटार धरो माँ।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
बहुत संभाल कर रखी चीजें
बहुत संभाल कर रखी चीजें
Dheerja Sharma
👌आज का शेर —
👌आज का शेर —
*Author प्रणय प्रभात*
💐प्रेम कौतुक-360💐
💐प्रेम कौतुक-360💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बुद्ध भक्त सुदत्त
बुद्ध भक्त सुदत्त
Buddha Prakash
जन्म नही कर्म प्रधान
जन्म नही कर्म प्रधान
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Loading...