Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Feb 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-158💐

सब्र रख उनको देखकर पहुँचे मुक़ाम पर।
रिवायत पर बे-एतिबार की शिक़ायत की गई।

©®अभिषेक: पाराशरः ‘आनन्द’

Language: Hindi
56 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हम छि मिथिला के बासी,
हम छि मिथिला के बासी,
Ram Babu Mandal
मन की बातें , दिल क्यों सुनता
मन की बातें , दिल क्यों सुनता
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
महादेव
महादेव
C.K. Soni
कैसे कह दूं
कैसे कह दूं
Satish Srijan
सभी कहें उत्तरांचली,  महावीर है नाम
सभी कहें उत्तरांचली, महावीर है नाम
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बड़ा ही हसीन होता है ये नन्हा बचपन
बड़ा ही हसीन होता है ये नन्हा बचपन
'अशांत' शेखर
जगमगाती चाँदनी है इस शहर में
जगमगाती चाँदनी है इस शहर में
Dr Archana Gupta
सब छोड़कर अपने दिल की हिफाजत हम भी कर सकते है,
सब छोड़कर अपने दिल की हिफाजत हम भी कर सकते है,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
या रब
या रब
Shekhar Chandra Mitra
मन मन्मथ
मन मन्मथ
अशोक शर्मा 'कटेठिया'
सुरसा-सी नित बढ़ रही, लालच-वृत्ति दुरंत।
सुरसा-सी नित बढ़ रही, लालच-वृत्ति दुरंत।
डॉ.सीमा अग्रवाल
पिता
पिता
Buddha Prakash
पत्थर का सफ़ीना भी, तैरता रहेगा अगर,
पत्थर का सफ़ीना भी, तैरता रहेगा अगर,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मैं कौन हूं
मैं कौन हूं
प्रेमदास वसु सुरेखा
दूरदर्शिता~
दूरदर्शिता~
दिनेश एल० "जैहिंद"
राम विवाह कि हल्दी
राम विवाह कि हल्दी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
शायर तो नहीं
शायर तो नहीं
Bodhisatva kastooriya
*बोले बच्चे माँ तुम्हीं, जग में सबसे नेक【कुंडलिया】*
*बोले बच्चे माँ तुम्हीं, जग में सबसे नेक【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
बारिश
बारिश
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
आज तो ठान लिया है
आज तो ठान लिया है
shabina. Naaz
"मनभावन मधुमास"
Ekta chitrangini
पापा की परी
पापा की परी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
■ छोटा शेर बड़ा संदेश...
■ छोटा शेर बड़ा संदेश...
*Author प्रणय प्रभात*
वीर वैभव श्रृंगार हिमालय🏔️⛰️🏞️🌅
वीर वैभव श्रृंगार हिमालय🏔️⛰️🏞️🌅
तारकेशवर प्रसाद तरुण
भगवावस्त्र
भगवावस्त्र
Dr Praveen Thakur
Tu itna majbur kyu h , gairo me mashur kyu h
Tu itna majbur kyu h , gairo me mashur kyu h
Sakshi Tripathi
तुम्हारे बार बार रुठने पर भी
तुम्हारे बार बार रुठने पर भी
gurudeenverma198
💐प्रेम कौतुक-437💐
💐प्रेम कौतुक-437💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ये रिश्ते हैं।
ये रिश्ते हैं।
Taj Mohammad
वाल्मीकि रामायण, किष्किन्धा काण्ड, द्वितीय सर्ग में राम द्वा
वाल्मीकि रामायण, किष्किन्धा काण्ड, द्वितीय सर्ग में राम द्वा
Rohit Kumar
Loading...