Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

— सबक सीख लो अब —

मत काटो अब रूक जाओ
हर पेड़ की यही है पुकार
अब तक तो संभल गए हो
आगे न हो जाना तुम लाचार

हरियाली से हरे भरे वो दरख़्त
उन पर न करो इतने वार
पेड़ों की हरियाली पर
अब न करना तुम अत्याचार

जीवन तुम्हारा जो बचा है
इन दरख्तों का शुक्र मनाओ
उठो दोस्तों कुछ सबक अब ले लो
अपने हाथों से अब पेड़ लगाओ

इन से है जीवन अपना और परिंदों का
जगल में भटकते उन जानवरों का
मत छीनो घरौंदा किसी का भी
यही अब तुम सब को समझाओ

अजीत कुमार तलवार
मेरठ

1 Like · 145 Views
You may also like:
नादानियाँ
Anamika Singh
दोस्ती का एहसास होता है
Dr fauzia Naseem shad
मुस्कुराएं सदा
Saraswati Bajpai
और न साजन तड़पाओ अब तुम
Ram Krishan Rastogi
तुम मेरे नसीब मे न थे
Anamika Singh
फिक्र ना है किसी में।
Taj Mohammad
.✍️आशियाना✍️
'अशांत' शेखर
शाम से ही तेरी याद सताने लगती है
Ram Krishan Rastogi
हमदर्द हो जो सबका मददगार चाहिए।
सत्य कुमार प्रेमी
सरकारी नौकर
Dr Meenu Poonia
लाइलाज़
Seema 'Tu haina'
✍️✍️कश्मकश✍️✍️
'अशांत' शेखर
बारिश का सुहाना माहौल
KAMAL THAKUR
लगदी तू मुझकों कमाल sodiye
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
गीत
Nityanand Vajpayee
जिन्दगी का नया अंदाज
Anamika Singh
ईद मनाते हैं।
Taj Mohammad
✍️मौसम सर्द हुआ है✍️
'अशांत' शेखर
अश्रुपात्र ... A glass of tears भाग - 5
Dr. Meenakshi Sharma
गर जा रहे तो जाकर इक बार देख लेना।
सत्य कुमार प्रेमी
देवता सो गये : देवता जाग गये!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
लहजा
सिद्धार्थ गोरखपुरी
💐💐वासुदेव: सर्वम्💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मेरी तडपन अब और न बढ़ाओ
Ram Krishan Rastogi
हृद् कामना ....
डॉ.सीमा अग्रवाल
“ आत्ममंथन; मिथिला,मैथिली आ मैथिल “
DrLakshman Jha Parimal
पग पग में विश्वास
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
✍️इंसान के पास अपना क्या था?✍️
'अशांत' शेखर
पिता एक विश्वास - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
एक छोटी सी बात
Hareram कुमार प्रीतम
Loading...