Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 15, 2021 · 1 min read

सपनो के दरवाज़े मे कुण्डी

मै नदियों की तरह बहना चाहता हूँ,
पहाड़ो की तरह निर्भीज्ञ होना चाहता हूँ //

पक्षियों की तरह उड़ना चाहता हूँ,
बच्चो की तरह निश्चिंत होना चाहता हूँ //

झरनो की तरह भयरहित होना चाहता हूँ,
एक साधू की तरह शांतचित्त होना चाहता हूँ //

लेकिन एक बीमारी ने मुझमे पाबन्दी लगा रखी हैँ,
मेरे सपनो के द्वार मे, कुण्डी लगा रखी है //

1 Like · 137 Views
You may also like:
ख़्वाब आंखों के
Dr fauzia Naseem shad
बड़ी शिकायत रहती है।
Taj Mohammad
गुरु महिमा
Vishnu Prasad 'panchotiya'
धार्मिक उन्माद
Rakesh Pathak Kathara
अंधेरी रातों से अपनी रौशनी पाई है।
Manisha Manjari
✍️पत्थर✍️
"अशांत" शेखर
बेदर्दी बालम
Anamika Singh
क्या कोई मुझे भी बताएगा
Krishan Singh
अपनी भाषा
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
अश्रुपात्र ... A glass of tears भाग- 2 और 3
Dr. Meenakshi Sharma
#छंद के लक्षण एवं प्रकार
आर.एस. 'प्रीतम'
*!* मेरे Idle मुन्शी प्रेमचंद *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
*सुप्रभात की सुगंध*
Vijaykumar Gundal
कर लो कोशिशें।
Taj Mohammad
महसूस करो
Dr fauzia Naseem shad
तू एक बार लडका बनकर देख
Abhishek Upadhyay
✍️आस्तीन में सांप✍️
"अशांत" शेखर
ऊँच-नीच के कपाट ।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
शहरों के हालात
Ram Krishan Rastogi
मुझमें भारत तुझमें भारत
Rj Anand Prajapati
चल-चल रे मन
Anamika Singh
एक ग़ज़ल लिख रहा हूं।
Taj Mohammad
$दोहे- हरियाली पर
आर.एस. 'प्रीतम'
# बोरे बासी दिवस /मजदूर दिवस....
Chinta netam " मन "
" जंगल की दुनिया "
Dr Meenu Poonia
यादों की बारिश का कोई
Dr fauzia Naseem shad
ज़िन्दा रहना है तो जीवन के लिए लड़
Shivkumar Bilagrami
बदनाम दिल बेचारा है
Taj Mohammad
मैं बहती गंगा बन जाऊंगी।
Taj Mohammad
✍️छांव और धुप✍️
"अशांत" शेखर
Loading...