Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Dec 17, 2021 · 1 min read

सत्य छिपता नहीं…

सत्य छिपता नहीं…
°°°°°°°°°°°°°
सत्य जब छिपता ही नहीं,
सत्य पर पहरा लगाते क्यों तुम ।
मैं तो सत्य बोलुंगा ही ,
चाहे जंजीरों में जकड़ लो तुम ।

झूठ परोस कर जो तुमने ,
इतने दिन राज किए ।
राजमुकुट के लिए ही तो ,
ख्वाहिशों का कत्लेआम किए ।

आज़ादी तो मिली थी पर,
मानसिकता वही गुलामोंवाली ।
किसने रोका था तुम्हें ।
एक समान कानून बनाने की ।

कहने को तो यूँ ही यहाँ, सब बराबर जो,
अनुच्छेद चौदह सजा डाला ।
फिर राजसत्ता सुख लपकने को ,
सबके लिए पृथक कानून बना डाला ।

असत्य यदि रम बस गया तो ,
पथभ्रष्टों का अधिकार बन जाता ।
फिर उसका परिमार्जन करना ,
जग में आसाँ नहीं होता ।

ये जरूरी नहीं कि तुम्हें जो अच्छा लगे,
मैं भी बस वो ही बोलूँ ।
सत्य छिपाने के लिए ,
मैं भी तेरे संग-संग डोलूँ ।

सत्य बहुतों को सदा है खलता ,
फिर भी झूठ का वो प्रश्रय लेता ।
जब धर्म की बातें निकल आए तो ,
चुप रहना भी एक गुनाह होता ।

सत्य, सत्ता स्वार्थ से ऊपर है ,
सत्य का रास्ता मत रोको ।
सत्य तो मैं लिखूंगा ही ,
भले ही अखबार में तुम मत छापो ।

मौलिक एवं स्वरचित
सर्वाधिकार सुरक्षित
© ® मनोज कुमार कर्ण
कटिहार ( बिहार )
तिथि – १७ /१२ / २०२१
शुक्ल पक्ष , चतुर्दशी , शुक्रवार
विक्रम संवत २०७८
मोबाइल न. – 8757227201

4 Likes · 4 Comments · 684 Views
You may also like:
तुम मुझे सोच
Dr fauzia Naseem shad
गांधी : एक सोच
Mahesh Ojha
गज़ल
Saraswati Bajpai
मेरी नेकियां।
Taj Mohammad
हम अपने मन की किस अवस्था में हैं
Shivkumar Bilagrami
"रिश्ते"
Ajit Kumar "Karn"
मेरे गांव में होने लगा है शामिल थोड़ा शहर:भाग:2
AJAY AMITABH SUMAN
मोन
श्याम सिंह बिष्ट
बे-पर्दे का हुस्न।
Taj Mohammad
अदब से।
Taj Mohammad
बचपन
Anamika Singh
*चली ससुराल जाती हैं (गीतिका)*
Ravi Prakash
✍️तलाश करो तुम✍️
'अशांत' शेखर
वाक्य से पोथी पढ़
शेख़ जाफ़र खान
गुज़रते कैसे हैं ये माह ओ साल मत पूछो
Anis Shah
बेसहारा हुए हैं।
Taj Mohammad
'परिवर्तन'
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
वोह जब जाती है .
ओनिका सेतिया 'अनु '
चुप रहने में।
Taj Mohammad
✍️मी परत शुन्य होणार नाही..!✍️
'अशांत' शेखर
This is how the journey of a warrior begins.
Manisha Manjari
कल्पना
Anamika Singh
अब कोई कुरबत नहीं
Dr. Sunita Singh
उलझनें_जिन्दगी की
मनोज कर्ण
भुला दो मुझको
Dr fauzia Naseem shad
दुर्घटना का दंश
DESH RAJ
मजदूर- ए- औरत
AMRESH KUMAR VERMA
💐💐सुषुप्तयां 'मैं' इत्यस्य भासः न भवति💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दोस्ती का जो
Dr fauzia Naseem shad
💐अस्माकं प्रापणीयं तत्व: .....….....💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...