Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Aug 2016 · 1 min read

सच की हालत

आज सच पराजित होने की कगार पर खड़ा है।
पर सच है कि झूठ को हराने की जिद्द पर अड़ा है।

झूठ की चालों का तोड़ नहीं है आज सच के पास,
यूँ ही झूठ के तीरों से घायल हुआ आज सच पड़ा है।

घोर कलयुग का ये असर है जो सच कमजोर हो गया है,
बस छलकने की देर है वरना झूठ का भरा हुआ घड़ा है।

देर हो सकती है पर अंधेर हो जाये ये मुमकिन नहीं,
इतिहास में झाँक कर देख लो झूठ से सच होता बड़ा है।

सच केवल अपने सहारे अपने हक की लड़ाई लड़ता है,
पर झूठ हमेशा छल, कपट, बेईमानी के सहारे लड़ा है।

ज़माने वाले कहते हैं कि सच की कभी हार नहीं होती,
धैर्य आजमाने को थोड़ी देर के लिए झूठ से पिछड़ा है।

झूठ की आँखों में सच हमेशा ऐसे खटकता रहता है,
जैसे चोरों की नजरों में खटकता हार मोतियों जड़ा है।

“सुलक्षणा” डरे बिना सच का दामन थामे रहना ताउम्र,
आज आज का नहीं झूठ सच का सदियों का झगड़ा है।

228 Views
You may also like:
जाने कहाँ
Dr fauzia Naseem shad
एक सुन्दरी है
Varun Singh Gautam
* तेरी चाहत बन जाऊंगा *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
खस्सीक दाम दस लाख
Ranjit Jha
कहाँ मिलेंगे तेरे क़दमों के निशाँ
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
खुशी के रंग
shabina. Naaz
*देश-भक्ति के भावों का पर्याय बन गईं श्री रामावतार त्यागी...
Ravi Prakash
चिन्ता और चिता में अन्तर
Ram Krishan Rastogi
पिता अम्बर हैं इस धारा का
Nitu Sah
मैथिली भाषा/साहित्यमे समस्या आ समाधान
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
सफलता की कुंजी ।
Anamika Singh
आदर्श पिता
Sahil
दीपावली का उत्सव
AMRESH KUMAR VERMA
प्रेम गीत
Harshvardhan "आवारा"
कारगिल फतह का २३वां वर्ष
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
एक नायाब मौका
Aditya Prakash
हेमन्त दा पे दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Tears in eyes
Buddha Prakash
कांटों पर उगना सीखो
VINOD KUMAR CHAUHAN
बगावत का बिगुल
Shekhar Chandra Mitra
अजब-गजब इन्सान...
डॉ.सीमा अग्रवाल
*खुशियों का दीपोत्सव आया* 
Deepak Kumar Tyagi
✍️कोई मसिहाँ चाहिए..✍️
'अशांत' शेखर
वक्त।
Taj Mohammad
" शिवोहम रिट्रीट "
Dr Meenu Poonia
रावण का तुम अंश मिटा दो,
कृष्णकांत गुर्जर
सब खड़े सुब्ह ओ शाम हम तो नहीं
Anis Shah
माँ चंद्र घंटा
Vandana Namdev
एक चुनाव हमने भी लड़ा था
Suryakant Chaturvedi
हर बच्चा कलाकार होता है।
लक्ष्मी सिंह
Loading...