Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 24, 2022 · 1 min read

सच का सामना

दूसरों में ख़ामी क्या ढूंढते फिरते हो,
अपनी ख़ुदी को टटोलकर तो देखो,

गैरों के दाम़न के दाग़ों को उजागर करने की कोशिश में लगे हो,
अपने गिरेबाँ की असलिय़त में झांँक कर तो देखो,

झूठ के लबादों में अपने गुनाहों को छुपाते हो,
सिर्फ़ एक बार सच का सामना करके तो देखो,

तारीफ़ के पुलों से अपना कद बड़ा समझते हो,
कभी अपनी हस्ती से दो चार होकर तो देखो,

ख्व़ाबों की दुनिया के आसमाँ में उड़ते हो,
हक़ीक़त की ज़मीं पर कदम रखकर तो देखो ,

2 Likes · 4 Comments · 127 Views
You may also like:
दिये मुहब्बत के...
अरशद रसूल /Arshad Rasool
जिंदगी या मौत? आपको क्या चाहिए?
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
उम्रें गुज़र गई हैं।
Taj Mohammad
विवश मनुष्य
AMRESH KUMAR VERMA
नुमाइश बना दी तुने I
Dr.sima
✍️वो भूल गये है...!!✍️
"अशांत" शेखर
मरने के बाद।
Taj Mohammad
ग़ज़ल -
Mahendra Narayan
पत्नि जो कहे,वह सब जायज़ है
Ram Krishan Rastogi
रत्नों में रत्न है मेरे बापू
Nitu Sah
अब आगाज यहाँ
vishnushankartripathi7
मूक प्रेम
Rashmi Sanjay
पिता
Shankar J aanjna
अब आ भी जाओ पापाजी
संदीप सागर (चिराग)
✍️इँसा और परिंदे✍️
"अशांत" शेखर
राह जो तकने लगे हैं by Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
रमेश कुमार जैन ,उनकी पत्रिका रजत और विशाल आयोजन
Ravi Prakash
जल है जीवन में आधार
Mahender Singh Hans
💐प्रेम की राह पर-34💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दया के तुम हो सागर पापा।
Taj Mohammad
दिल की सुनाएं आप जऱा लौट आइए।
सत्य कुमार प्रेमी
मेरी हस्ती
Anamika Singh
नव सूर्योदय
AMRESH KUMAR VERMA
इन नजरों के वार से बचना है।
Taj Mohammad
सहज बने गह ज्ञान,वही तो सच्चा हीरा है ।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कभी भीड़ में…
Rekha Drolia
तात्या टोपे बलिदान दिवस १८ अप्रैल १८५९
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दिवस नहीं मनाये जाते हैं...!!!
Kanchan Khanna
✍️आखरी सफर पे हूँ...✍️
"अशांत" शेखर
पत्नी जब चैतन्य,तभी है मृदुल वसंत।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...