Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Sep 2016 · 1 min read

संवेदना

जग धरती पर ऐसा भी है होता
वेदना उतर कर पॉव पसारती
संवेदना व्यक्ति की नग्न हो जाती
देख विकलता मन है मर जाता

दया ,ममता ,करूणा कहाँ है जाती
मानव खण्ड विकसित ना हो पाता
विकसने से पहिले आत्मा मर जाती
देख विकलता नहीं शान्त बैठ पाता

दुनियाँ से खत्म मनुजता को देख
मन क्यों तेरा नही बरबस रो जाता
सूट बूट में चलता फिरता तू इतराता
इनका भी भला इन्सान तू करता

विधाता ने नीचे डाल ना सोचा होगा
मेरी दोनों कृतियों मे वैषम्य न होगा
पैसे वाला न पैसे वालें को सम्हालेगा
मेरा तो कुछ बोझ भार ही उतारेगा

डॉ मधु त्रिवेदी

Language: Hindi
Tag: कविता
74 Likes · 246 Views
You may also like:
✍️आसमाँ के परिंदे ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
करवा चौथ
VINOD KUMAR CHAUHAN
कई शामें शामिल होकर लूटी हैं मेरी दुनियां /लवकुश यादव...
लवकुश यादव "अज़ल"
इतना तय है
Dr fauzia Naseem shad
करोना
AMRESH KUMAR VERMA
इश्क के मारे है।
Taj Mohammad
हर घर तिरंगा
अश्विनी कुमार
बाधाओं से लड़ना होगा
दशरथ रांकावत 'शक्ति'
ठान लिया है
Buddha Prakash
जिस्म खूबसूरत नहीं होता
गायक और लेखक अजीत कुमार तलवार
आस्तीक भाग-चार
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
लाल में तुम ग़ुलाब लगती हो
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
*अद्‌भुत है अनमोल देह (गीत)*
Ravi Prakash
मेरे गाँव में होने लगा है शामिल थोड़ा शहर [प्रथम...
AJAY AMITABH SUMAN
तुम्हारी यादें
Dr. Sunita Singh
पिता का साया हूँ
N.ksahu0007@writer
असली हीरो
Soni Gupta
यकीन
Vikas Sharma'Shivaaya'
- मेरा प्रेम कागज,कलम व पुस्तक -
bharat gehlot
“ पगडंडी का बालक ”
DESH RAJ
अधूरी चाहत
Faza Saaz
रहे मुहब्बत सदा ही रौशन..
अश्क चिरैयाकोटी
बाल कहानी- चतुर और स्वार्थी लोमड़ी
SHAMA PARVEEN
अजनबी
लक्ष्मी सिंह
किताब।
Amber Srivastava
प्रेम दो दिल की धड़कन है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बदतर होते हालात
Shekhar Chandra Mitra
कब आओगे
dks.lhp
इच्छा
Anamika Singh
★सफर ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
Loading...