Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

#श्रीगुरुदेव वंदन???

? “श्रीगुरुदेव वंदन” ?
✏ रूपमाला/मदन छंद
✏विधान 14-10
??????????

आपका ही आसरा है, दुख भरा संसार।
ज्ञान का करके उजाला, मेट दो तम-भार।।

हे गुरूवर! दो मुझे भी, बुद्धि-बल का दान।
तम मिटें उर के सकल अब, हो स्वयं का भान।।

आ गया पद की शरण में, आज मैं करजोर।
हो सदा जीवन प्रकाशित, ज्ञान की नव-भोर।।

दास को लीजै शरण में, हे गुरू गुणवान।
‘तेज’ को कर दो अलोकित, आप दे सद्ज्ञान।।

??????????
?तेज✏मथुरा✍
? चराचर जगत के गुरुतत्व को नमन ?

173 Views
You may also like:
उसे देख खिल जातीं कलियांँ
श्री रमण 'श्रीपद्'
मिट्टी की कीमत
निकेश कुमार ठाकुर
दो पल मोहब्बत
श्री रमण 'श्रीपद्'
मेरी लेखनी
Anamika Singh
मर गये ज़िंदगी को
Dr fauzia Naseem shad
माँ (खड़ी हूँ मैं बुलंदी पर मगर आधार तुम हो...
Dr Archana Gupta
गर्मी का रेखा-गणित / (समकालीन नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
हम भूल तो नहीं सकते
Dr fauzia Naseem shad
दिल में रब का अगर
Dr fauzia Naseem shad
मेरे पिता
Ram Krishan Rastogi
जुद़ा किनारे हो गये
शेख़ जाफ़र खान
बुध्द गीत
Buddha Prakash
प्राकृतिक आजादी और कानून
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
🥗फीका 💦 त्यौहार💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द
वो हैं , छिपे हुए...
मनोज कर्ण
पल
sangeeta beniwal
हर घर तिरंगा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
कुछ पंक्तियाँ
आकांक्षा राय
प्रकृति के चंचल नयन
मनोज कर्ण
कोशिशें हों कि भूख मिट जाए ।
Dr fauzia Naseem shad
फेसबुक की दुनिया
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
✍️हिसाब ✍️
Vaishnavi Gupta
✍️कलम ही काफी है ✍️
Vaishnavi Gupta
"सावन-संदेश"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
इंतजार
Anamika Singh
दीवार में दरार
VINOD KUMAR CHAUHAN
जी, वो पिता है
सूर्यकांत द्विवेदी
कहीं पे तो होगा नियंत्रण !
Ajit Kumar "Karn"
हवा-बतास
आकाश महेशपुरी
दामन भी अपना
Dr fauzia Naseem shad
Loading...