Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

शेर- पीपल की छांव- राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’

शेर-

पीपल की छांव-
( राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’)

न जाओ ‘राना’ छांव को पीपल की छोड़ कर।

शहर में खुशहाल बस्तियां नहीं होती।।

-राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’, टीकमगढ़ (मप्र)

144 Views
You may also like:
बदल कर टोपियां अपनी, कहीं भी पहुंच जाते हैं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
तुम्हारी बात
सिद्धार्थ गोरखपुरी
#udhas#alone#aloneboy#brokenheart
Dalveer Singh
मैं मजदूर हूँ!
Anamika Singh
✍️घर घर तिरंगा..!✍️
'अशांत' शेखर
टूटता तारा
Anamika Singh
#15_जून
Ravi Prakash
“ राजा और प्रजा ”
DESH RAJ
दिल्ली की कहानी मेरी जुबानी [हास्य व्यंग्य! ]
Anamika Singh
जय हिन्द , वन्दे मातरम्
Shivkumar Bilagrami
सरसी छंद और विधाएं
Subhash Singhai
निज़ामी आसमां की।
Taj Mohammad
गँवईयत अच्छी लगी
सिद्धार्थ गोरखपुरी
ये मोहब्बत राज ना रहती है।
Taj Mohammad
क्या कुछ नहीं है मेरे पास
gurudeenverma198
दामन भी अपना
Dr fauzia Naseem shad
भूख सी बेबसी नहीं देखी
Dr fauzia Naseem shad
✍️मैं काश हो गया..✍️
'अशांत' शेखर
दोहा छंद- पिता
रेखा कापसे
बुढ़ापे में अभी भी मजे लेता हूं
Ram Krishan Rastogi
✍️खरा सोना✍️
'अशांत' शेखर
एक छोटी सी बात
Hareram कुमार प्रीतम
" शीतल कूलर
Dr Meenu Poonia
غزل
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
बहुत हैं फायदे तुमको बतायेंगे मुहब्बत से।
सत्य कुमार प्रेमी
बी एफ
Ashwani Kumar Jaiswal
पिता का प्रेम
Seema gupta ( bloger) Gupta
ट्रेजरी का पैसा
Mahendra Rai
कुछ तो बोल
Harshvardhan "आवारा"
जिन्दगी और दर्द
Anamika Singh
Loading...