Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Feb 2023 · 1 min read

शुक्र है मौला

शुक्र मौला तेरा, करतब नहीं आता मुझको।
सुना है तेरे दर पे कमअक्लों की कदर है ज्यादा।

सतीश सृजन

Language: Hindi
1 Like · 57 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मंजिल छूते कदम
मंजिल छूते कदम
Arti Bhadauria
चाय जैसा तलब हैं मेरा ,
चाय जैसा तलब हैं मेरा ,
Rohit yadav
*संतुष्ट मन*
*संतुष्ट मन*
Shashi kala vyas
होगा बढ़िया व्यापार
होगा बढ़िया व्यापार
Buddha Prakash
अप्प दीपो भव
अप्प दीपो भव
Shekhar Chandra Mitra
*होलिका दहन*
*होलिका दहन*
Rambali Mishra
#आज_का_संदेश
#आज_का_संदेश
*Author प्रणय प्रभात*
रचनाकार का परिचय/आचार्य
रचनाकार का परिचय/आचार्य "पं बृजेश कुमार नायक" का परिचय
Pt. Brajesh Kumar Nayak
বন কেটে ফেলা হচ্ছে
বন কেটে ফেলা হচ্ছে
Sakhawat Jisan
मन हो अगर उदास
मन हो अगर उदास
कवि दीपक बवेजा
कुछ मन्नतें पूरी होने तक वफ़ादार रहना ऐ ज़िन्दगी.
कुछ मन्नतें पूरी होने तक वफ़ादार रहना ऐ ज़िन्दगी.
पूर्वार्थ
ज़रूरत
ज़रूरत
सतीश तिवारी 'सरस'
किसी की किस्मत संवार के देखो
किसी की किस्मत संवार के देखो
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मैं खुश हूँ बिन कार
मैं खुश हूँ बिन कार
Satish Srijan
क्या मागे माँ तुझसे हम, बिन मांगे सब पाया है
क्या मागे माँ तुझसे हम, बिन मांगे सब पाया है
Anil chobisa
आखिरी सफ़र
आखिरी सफ़र
Dr. Rajiv
थोड़ी दुश्वारियां ही भली, या रब मेरे,
थोड़ी दुश्वारियां ही भली, या रब मेरे,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
वार्तालाप अगर चांदी है
वार्तालाप अगर चांदी है
Pankaj Sen
"हर दिन कुछ नया सीखें ,
Mukul Koushik
अजनबी बनकर आये थे हम तेरे इस शहर मे,
अजनबी बनकर आये थे हम तेरे इस शहर मे,
डी. के. निवातिया
*Success_Your_Goal*
*Success_Your_Goal*
Manoj Kushwaha PS
ఉగాది
ఉగాది
विजय कुमार 'विजय'
" मैं फिर उन गलियों से गुजरने चली हूँ "
Aarti sirsat
आज़ाद हूं मैं
आज़ाद हूं मैं
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
💐प्रेम कौतुक-440💐
💐प्रेम कौतुक-440💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ख़ुद अपने नूर से रौशन है आज की औरत
ख़ुद अपने नूर से रौशन है आज की औरत
Anis Shah
प्रेम
प्रेम
Sanjay
है नारी तुम महान , त्याग की तुम मूरत
है नारी तुम महान , त्याग की तुम मूरत
श्याम सिंह बिष्ट
*महामूरख की टोपी( हास्य कुंडलिया)*
*महामूरख की टोपी( हास्य कुंडलिया)*
Ravi Prakash
शाहजहां के ताजमहल के मजदूर।
शाहजहां के ताजमहल के मजदूर।
Rj Anand Prajapati
Loading...