Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

शिव स्तुति

भष्म से रमी सुदेह रूप अति भयंकरा।
कोटि-कोटि आपको नमस्तु देव शंकरा।

शशि ललाट शोभितम गले भुजंग माल है।
गंग शीश पे तरंग छेंड़ती विशाल है।
ब्याघ्र चर्म पर विराजमान वृक्ष वट तले।
जब खुले त्रिकाल दृष्टि नेत्र तीसरा जले।

क्रोध में हो आप तो ये डोलती वसुंधरा।
कोटि-कोटि आपको नमस्तु देव शंकरा।

आप हो दयानिधान आप आदि अंत हो।
सृष्टि का विधान आप ही सदा अनन्त हो।
नित्यकर्म से सदा जो पाठ आपका करे।
वो रहे सुखी सदैव कष्ट आपने हरे।

लीजिए शरण मुझे कृपा करो दिगम्बरा।
कोटि-कोटि आपको नमस्तु देव शंकरा।

अभिनव मिश्र अदम्य

77 Views
You may also like:
स्वर्गीय श्री पुष्पेंद्र वर्णवाल जी का एक पत्र : मधुर...
Ravi Prakash
मानव तन
Rakesh Pathak Kathara
घनाक्षरी छंद
शेख़ जाफ़र खान
अब तो इतवार भी
Krishan Singh
सब खड़े सुब्ह ओ शाम हम तो नहीं
Anis Shah
✍️सूर्यज्वाळा✍️
"अशांत" शेखर
उसके मेरे दरमियाँ खाई ना थी
Khalid Nadeem Budauni
दिल है कि मानता ही नहीं
gurudeenverma198
आदर्श ग्राम्य
Tnmy R Shandily
💐प्रेम की राह पर-32💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हमारें रिश्ते का नाम।
Taj Mohammad
चेतना के उच्च तरंग लहराओं रे सॉवरियाँ
Dr.sima
बुलंद सोच
Dr. Alpa H. Amin
लाशें बिखरी पड़ी हैं।(यूक्रेन पर लिखी गई ग़ज़ल)
Taj Mohammad
★HAPPY FATHER'S DAY ★
KAMAL THAKUR
✍️तलाश ज़ारी रखनी चाहिए✍️
"अशांत" शेखर
अब कहां कोई।
Taj Mohammad
आया आषाढ़
श्री रमण
विषय:सूर्योपासना
Vikas Sharma'Shivaaya'
पुण्य स्मरण: 18 जून2008 को मुरादाबाद में आयोजित पारिवारिक समारोह...
Ravi Prakash
✍️वो भूल गये है...!!✍️
"अशांत" शेखर
.✍️वो थे इसीलिये हम है...✍️
"अशांत" शेखर
# हे राम ...
Chinta netam " मन "
यह कैसा एहसास है
Anuj yadav
जो बीत गई।
Taj Mohammad
काश।
Taj Mohammad
महेनतकश इंसान हैं ... नहीं कोई मज़दूर....
Dr. Alpa H. Amin
अनोखी सीख
DESH RAJ
दुर्योधन कब मिट पाया:भाग:38
AJAY AMITABH SUMAN
हम एक है
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Loading...