Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

शिक्षक संकल्प

शिक्षक दिवस दिया है हमको,
उनको शत शत कोटि प्रणाम ।
वरन शिक्षक कि मिट जाति,
पूछ परख सिर्फ बचता नाम।
शिक्षक भी गौरव को भूला,
किया कलंकित अपना काम।
दुराचार,दुष्कर्म ,दुष्टता,
अखबारों में छपना आम।
शिक्षक कर्म की महिमा,
छुपी नहीं कभी समाज में ।
जीवन खपा देता है सारा,
समाज के उत्थान में ।
माना आज नहीं गुरूकुल,
न है शिक्षा निज हाथ में।
फिर भी दीपक बन जलता,
ग्यान के विस्तार में।
नैतिक मूल्यहीन शिक्षा से,
शिक्षक का सम्मान कमा है।
पर शासन व समाज दोनो,
शिक्षक पर ही दोष मडा है।
शिक्षकीय कर्म की है परीक्षा,
अनजानी सबकी चाहत है।
साक्षरता ही उद्देश्य नहीं,
राष्ट्भक्ति भाव आवश्यक हैं।
शिक्षक दिवस पर संकल्प करें,
खोई गरिमा पुन: पाना है।
कर्म व्यवहार श्रेष्टता के बल,
आतंक उग्रवाद मिटाना है।

राजेश़ कौरब ” सुमित्र ”
बारहाबड़ा

1 Like · 191 Views
You may also like:
प्रेम में त्याग
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
इन्सानियत ज़िंदा है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जादूगर......
Vaishnavi Gupta
पिता का प्रेम
Seema gupta ( bloger) Gupta
जय जगजननी ! मातु भवानी(भगवती गीत)
मनोज कर्ण
'याद पापा आ गये मन ढाॅंपते से'
Rashmi Sanjay
माँ
आकाश महेशपुरी
इंतजार
Anamika Singh
पिता
लक्ष्मी सिंह
कुछ दिन की है बात ,सभी जन घर में रह...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
If we could be together again...
Abhineet Mittal
पिता
Neha Sharma
बहुत प्यार करता हूं तुमको
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
हमारे बाबू जी (पिता जी)
Ramesh Adheer
माखन चोर
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
दहेज़
आकाश महेशपुरी
आज मस्ती से जीने दो
Anamika Singh
✍️बड़ी ज़िम्मेदारी है ✍️
Vaishnavi Gupta
प्रकृति के चंचल नयन
मनोज कर्ण
बस एक निवाला अपने हिस्से का खिला कर तो देखो।
Gouri tiwari
दिल से रिश्ते निभाये जाते हैं
Dr fauzia Naseem shad
रिश्तों की डोर
मनोज कर्ण
अधर मौन थे, मौन मुखर था...
डॉ.सीमा अग्रवाल
हमसे न अब करो
Dr fauzia Naseem shad
पितृ ऋण
Shyam Sundar Subramanian
सपनों में खोए अपने
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
✍️ईश्वर का साथ ✍️
Vaishnavi Gupta
पिता तुम हमारे
Dr. Pratibha Mahi
पिता
Shailendra Aseem
" एक हद के बाद"
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
Loading...