Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

#शादी का लड्डू?

?? शादी का लड्डू ??
✏विधा – मनहरण घनाक्षरी
✏विधान – ८८८७
??????????

घर को बनाया रण-
भूमि बनी फिरै शूल
खींच रखै पाला नित, तीर बरसाये जी।
सदा “मन की ही बात”,
कभी घूंसा कभी लात
हर वक्त तानाशाही, अपनी चलाये जी।
‘तेज’ शमशीर-सी ही,
वार को तैयार रहै
केहि विधि पार इस, सूरमा से पाये जी।
तनातनी अनबन,
दुखता है तन-मन
“शादी का ये लड्डू” खाके, हम पछताये जी।

??????????

सिंहनी की जात यह
एकली न आफत है
नित आग में घी डाल
रही ससुराल है।

साले-साली राहू-केतु
सास यमराज बनी
ससुरा है शनिदेव
कुण्डली में काल है।

शनि की है साढ़ेसाती
काल-योग जीवन में
“शादी वाला लड्डू” इस
जग में बवाल है।

उजड़े चमन में जो
खड़ा-खड़ा कांपे डूंठ
‘तेज’ यही घर में तो
हुआ तेरा हाल है।

??????????
?तेज✏मथुरा

235 Views
You may also like:
ठोकर खाया हूँ
Anamika Singh
समय का सदुपयोग
Anamika Singh
✍️बारिश का मज़ा ✍️
Vaishnavi Gupta
गुलामी के पदचिन्ह
मनोज कर्ण
"बदलाव की बयार"
Ajit Kumar "Karn"
वर्षा ऋतु में प्रेमिका की वेदना
Ram Krishan Rastogi
मन
शेख़ जाफ़र खान
गंगा दशहरा
श्री रमण 'श्रीपद्'
आंसूओं की नमी का क्या करते
Dr fauzia Naseem shad
🥗फीका 💦 त्यौहार💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द
पिता तुम हमारे
Dr. Pratibha Mahi
समय को भी तलाश है ।
Abhishek Pandey Abhi
जीवन एक कारखाना है /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️इंतज़ार✍️
Vaishnavi Gupta
जीवन में
Dr fauzia Naseem shad
✍️कैसे मान लुँ ✍️
Vaishnavi Gupta
तू तो नहीं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
कभी ज़मीन कभी आसमान.....
अश्क चिरैयाकोटी
पिता
Ram Krishan Rastogi
यकीन कैसा है
Dr fauzia Naseem shad
आई राखी
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पिता
Mamta Rani
नदी बन जा तू
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जब बेटा पिता पे सवाल उठाता हैं
Nitu Sah
क्या लगा आपको आप छोड़कर जाओगे,
Vaishnavi Gupta
बिटिया होती है कोहिनूर
Anamika Singh
संकुचित हूं स्वयं में
Dr fauzia Naseem shad
सृजन कर्ता है पिता।
Taj Mohammad
जिस नारी ने जन्म दिया
VINOD KUMAR CHAUHAN
अच्छा आहार, अच्छा स्वास्थ्य
साहित्य लेखन- एहसास और जज़्बात
Loading...