Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

शरण में आया तेरी राम जी

शरण में आया तेरी राम जी

संग मेरे घूमते थे, संग मेरे खाते
करते थे, मुझसे वे बड़ी बड़ी बातें
दुर्दिन में मेरे वो ,आये नहीं काम जी
अब तो शरण में ,मैं आया तेरी राम जी

यार दोस्त देखे मैनें, देखे मैनें नाते
परे मेरे जाती हैं ,दुनिया की बातें
बचपन ,जबानी बीती , आयी अब शाम जी
अब तो शरण में ,मैं आया तेरी राम जी

शरण में आया तेरी राम जी
मदन मोहन सक्सेना

112 Views
You may also like:
आखिरी कोशिश
AMRESH KUMAR VERMA
*झाँसी की क्षत्राणी । (झाँसी की वीरांगना/वीरनारी)
Pt. Brajesh Kumar Nayak
✍️शब्दांच्या संवेदना...✍️
"अशांत" शेखर
आज की पत्रकारिता
Anamika Singh
मजबूर ! मजदूर
शेख़ जाफ़र खान
पति पत्नी पर हास्य व्यंग
Ram Krishan Rastogi
नारी है सम्मान।
Taj Mohammad
नदी की अभिलाषा / (गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
श्री राधा मोहन चतुर्वेदी
Ravi Prakash
जब-जब देखूं चाँद गगन में.....
अश्क चिरैयाकोटी
मै हूं एक मिट्टी का घड़ा
Ram Krishan Rastogi
तुम्हारा प्यार अब नहीं मिलता।
सत्य कुमार प्रेमी
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
💐प्रेम की राह पर-24💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तेरा मेरा नाता
Alok Saxena
☆☆ प्यार का अनमोल मोती ☆☆
Dr. Alpa H. Amin
प्रोफेसर ईश्वर शरण सिंहल का साहित्यिक योगदान (लेख)
Ravi Prakash
“माटी ” तेरे रूप अनेक
DESH RAJ
ख़ुशी
Alok Saxena
✍️✍️ठोकर✍️✍️
"अशांत" शेखर
पथ पर बैठ गए क्यों राही
Anamika Singh
दर्द का अंत
AMRESH KUMAR VERMA
He is " Lord " of every things
Ram Ishwar Bharati
आ लौट के आजा घनश्याम
Ram Krishan Rastogi
पिता
Vandana Namdev
मां की महानता
Satpallm1978 Chauhan
सब खड़े सुब्ह ओ शाम हम तो नहीं
Anis Shah
हमारे जीवन में "पिता" का साया
इंजी. लोकेश शर्मा (लेखक)
तुम हो फरेब ए दिल।
Taj Mohammad
यक्ष प्रश्न ( लघुकथा संग्रह)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
Loading...