Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#18 Trending Author

✍️✍️व्यवस्था✍️✍️

✍️✍️व्यवस्था✍️✍️
…………………………………………//
मैं जानता हूँ
कल फिर यहाँ
जिंदगानियाँ
तरन्नुम होगी,
फ़तेह की कहानियाँ
नयी जुबाँ लिखेगी,
खुशियों के मेले लगेंगे
आदमियों की भीड़ सजेगी।
क्या फर्क पड़ता है
गर इंसानियत का
एक ओर शहर
तबाह हो जाये तो….
……………………………………….//
✍️”अशांत”शेखर✍️
13/06/2022

2 Likes · 4 Comments · 154 Views
You may also like:
✍️मेरी शख़्सियत✍️
'अशांत' शेखर
ऐसे तो ना मोहब्बत की जाती है।
Taj Mohammad
✍️जिंदगी क्या है...✍️
'अशांत' शेखर
समाजसेवा
Kanchan Khanna
तुम थे पास फकत कुछ वक्त के लिए।
Taj Mohammad
बुद्धिजीवियों के आईने में गाँधी-जिन्ना सम्बन्ध
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Corporate Mantra of Politics
AJAY AMITABH SUMAN
प्यार को हद मे रहने दो
Anamika Singh
✍️अपना ही सवाल✍️
'अशांत' शेखर
" जीवित जानवर "
Dr Meenu Poonia
* तेरी चाहत बन जाऊंगा *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हिंदी व डोगरी की चहेती लेखिका पद्मा सचदेव का निधन
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ग़ज़ल
Nityanand Vajpayee
कौन कहता कि स्वाधीन निज देश है?
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जीना मुश्किल
Harshvardhan "आवारा"
"सुकून"
Lohit Tamta
✍️अग्निपथ...अग्निपथ...✍️
'अशांत' शेखर
✍️✍️भोंगे✍️✍️
'अशांत' शेखर
सहज बने गह ज्ञान,वही तो सच्चा हीरा है ।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
क्या तुम आजादी के नाम से, कुछ भी कर सकते...
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सुधार लूँगा।
Vijaykumar Gundal
आजादी की कभी शाम ना हम होने देंगे
Ram Krishan Rastogi
जुबान काट दी जाएगी - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
मृत्यु
AMRESH KUMAR VERMA
और जीना चाहता हूं मैं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
उफ ! ये गर्मी, हाय ! गर्मी / (गर्मी का...
ईश्वर दयाल गोस्वामी
# महकता बदन #
DR ARUN KUMAR SHASTRI
रावण का मकसद, मेरी कल्पना
Anamika Singh
बुलबुला
मनोज शर्मा
बिछड़ कर किसने
Dr fauzia Naseem shad
Loading...