Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 24, 2022 · 1 min read

वो

वो एक अजनबी सा झोंका बनकर जिंदगी में आया ,
अलम भरे लम्ह़ों को अपनी मौजूदगी से खुश़गवार बना चला गया ,
ज़ेहन में पैव़स्त अब्र उन मस़र्रत भरे पलों की याद दिला जाते हैं ,
इस तन्हा माय़ूसी भरे पस़मंज़र में चंद घड़ी खुश़नुमा एहसास दिला जाते हैं ,
वो शफ़्फाक़ सीरत , नेक-निय्यत ,वो रहम़दिलअख़लाक , एक मिसाल पेश़ कर गईं ,
श़ुआएँ बन मेरी तीरग़ी भरी ज़िंदगी को
ऱोशन कर गईं ,

114 Views
You may also like:
गंगा से है प्रेमभाव गर
VINOD KUMAR CHAUHAN
आन के जियान कके
अवध किशोर 'अवधू'
काश।
Taj Mohammad
खुशबू
DESH RAJ
✍️✍️गुमराह✍️✍️
"अशांत" शेखर
Sweet Chocolate
Buddha Prakash
छलकाओं न नैना
Dr. Alpa H. Amin
*श्री राजेंद्र कुमार शर्मा का निधन : एक युग का...
Ravi Prakash
*कलम शतक* :कवि कल्याण कुमार जैन शशि
Ravi Prakash
शाश्वत सत्य की कलम से।
Manisha Manjari
लता मंगेशकर
AMRESH KUMAR VERMA
सहारा मिल गया होता
अरशद रसूल /Arshad Rasool
ఎందుకు ఈ లోకం పరుగెడుతుంది.
Vijaykumar Gundal
सफर
Anamika Singh
🌷मनोरथ🌷
पंकज कुमार "कर्ण"
सोंच समझ....
Dr. Alpa H. Amin
पिता
Shankar J aanjna
सबको दुनियां और मंजिल से मिलाता है पिता।
सत्य कुमार प्रेमी
✍️मेरा मकान भी मुरस्सा होता✍️
"अशांत" शेखर
पत्नी जब चैतन्य,तभी है मृदुल वसंत।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मन बस्या राम
हरीश सुवासिया
लहरों का आलाप ( दोहा संग्रह)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
सब्जी की टोकरी
Buddha Prakash
तुम ही ये बताओ
Mahendra Rai
Waqt
ananya rai parashar
जून की दोपहर (कविता)
Kanchan Khanna
कविता की महत्ता
Rj Anand Prajapati
चौंक पड़ती हैं सदियाॅं..
Rashmi Sanjay
धरती की फरियाद
Anamika Singh
प्रीति की, संभावना में, जल रही, वह आग हूँ मैं||
संजीव शुक्ल 'सचिन'
Loading...