Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Dec 2021 · 1 min read

वो हैं , छिपे हुए…

वो हैं , छिपे हुए…
°°°°°°°°°°°°°°
वो है ,
छिपे हुए…
कुछ इस तरह से मकान में।
पहचानना मुमकिन नहीं ,
अपने वतन हिन्दुस्तान में ।
मेरे लहु में जोश है ,
अहल-ए-वतन कुर्बान की ।
उनके लहु में आक्रोश है ,
हैवानियत मुस्कान की।
सारा जहाँ है रो रहा,
जज्बा लिए जज्बात की।
साजिशें वो कर रहे ,
शोलों भरे बरसात की।
कैसे कहुँ मुख बंद है ,
इंसानियत शर्मशार है ।
बागीपना लहु बस गया ,
इतिहास में है सब कुछ लिखा ।
अभिप्राय बस तुम जान लो_
हो जाए यदि देश खंड-खंड ,
दिल होगा उनका बाग-बाग ।
भारत की सीमा यदि हो अखंड ,
दुःख होगा फिर उनको प्रचंड ।
अभी समय है उन्हें पहचान लो ,
दिल की गहराईयों में जान लो ।
मुखौटे लगा वतन प्रेम का ,
कर देंगे सफाया हिन्दुस्तान का ।
आरज़ू बस ये ठान लो ,
हर सांस देश के नाम हो ।
उंगली उठे यदि खुद्दारी पे ,
तब खंजर चुभे गद्दारी पे।

मौलिक एवं स्वरचित
सर्वाधिकार सुरक्षित
© ® मनोज कुमार कर्ण
कटिहार ( बिहार )
तिथि – ०९ /१२ / २०२१
शुक्ल पक्ष ,षष्ठी , गुरुवार ,
विक्रम संवत २०७८
मोबाइल न. – 8757227201

Language: Hindi
Tag: कविता
7 Likes · 8 Comments · 900 Views
You may also like:
क्या करे
shabina. Naaz
बाल कविता दुश्मन को कभी मित्र न मानो
Ram Krishan Rastogi
पितृ वंदना
संजीव शुक्ल 'सचिन'
नाम
Ranjit Jha
प्यार की बातें कर मेरे प्यारे
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मेरे पीछे जमाना चले ओर आगे गन-धारी दो वीर हो!
Suraj kushwaha
और मैं तुमसे प्यार करता रहा जबकि
gurudeenverma198
अतीत का अफसोस क्या करना।
पीयूष धामी
बाबू जी
Anoop 'Samar'
रमेश छंद "नन्ही गौरैया"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
दुनिया जवाब पूछेगी
Swami Ganganiya
स्कूल का पहला दिन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
तेरे बिन
Harshvardhan "आवारा"
दिखती है व्यवहार में ,ये बात बहुत स्पष्ट
Dr Archana Gupta
दावत चिंतन ( हास्य-व्यंग्य )
Ravi Prakash
जनता की दुर्गति
Shekhar Chandra Mitra
जहर कहां से आया
Dr. Rajeev Jain
महफिल में छा गई।
Taj Mohammad
जिस घर में---
लक्ष्मी सिंह
अनूठी दुनिया
AMRESH KUMAR VERMA
स्वच्छता
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
यादों में तेरे रहना ख्वाबों में खो जाना
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
बुद्ध धाम
Buddha Prakash
बिखरना
Vikas Sharma'Shivaaya'
✍️मंजूर-ए-खुदा✍️
'अशांत' शेखर
मुकरियां __नींद
Manu Vashistha
🚩आगे बढ़,मतदान करें।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
पर्यावरण
सूर्यकांत द्विवेदी
प्यार अंधा होता है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
मौत पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
Loading...