Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#11 Trending Author

.✍️वो थे इसीलिये हम है…✍️

✍️वो थे इसीलिये हम है…✍️
—————————————————- //
पिता..!
हमारे जीवन सृष्टि के है शिल्पकार…
वो है जनक हम उनका अविष्कार…
बिना उनके कैसे मिलता
व्यक्तित्त्व को नया आकार…
संसाररूपी कश्ती के
वो थे मजबूत पतवार
परिवार की बुनियाद का
वो थे सशक्त आधार
वो हमारी सकारात्मक प्रेरना
वो हमारे रचयिता हम उनकी रचना
हम है उनके सृजन का निर्माण
हम है उनके आचार,विचार और
संस्कार का प्रतिबिंब
वो थे इसीलिये हम है…
उनके द्वारा प्रकृति का भाग्य मिला
विश्व में एक सफल धन्य जीवन मिला

केवल पिता ही होते है प्रथम आस
और हमारे जीवन की अंतिम सांस
———————————————//
✍️”अशांत”शेखर✍️
चंद्रपुर महाराष्ट्र-442401
03/06/2022

6 Likes · 12 Comments · 125 Views
You may also like:
बचपन
Anamika Singh
सिपाही
Buddha Prakash
पिता
Shankar J aanjna
श्रमिक जो हूँ मैं तो...
मनोज कर्ण
जुल्म
AMRESH KUMAR VERMA
मातृ रूप
श्री रमण 'श्रीपद्'
हमारी मां हमारी शक्ति ( मातृ दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
शायरी
श्याम सिंह बिष्ट
पिता की सीख
Anamika Singh
जिज्ञासा
Rj Anand Prajapati
हम भाई भाई थे
Anamika Singh
बाजारों में ना बिकती है।
Taj Mohammad
पिता हिमालय है
जगदीश शर्मा सहज
✍️मानो तो ये भी सही✍️
'अशांत' शेखर
हौंसलों की कमी नहीं लेकिन ।
Dr fauzia Naseem shad
नील छंद "विरहणी"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
बताकर अपना गम।
Taj Mohammad
आज नहीं तो कल होगा - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
चुनौती
AMRESH KUMAR VERMA
कोशिश
Anamika Singh
'स्मृतियों की ओट से'
Rashmi Sanjay
"अंतरात्मा"
Dr.Alpa Amin
कैसा मोजिजा है।
Taj Mohammad
तू ही पहली।
Taj Mohammad
✍️चाबी का एक खिलौना✍️
'अशांत' शेखर
भगवान विरसा मुंडा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दंगा पीड़ित
Shyam Pandey
जीत-हार में भेद ना,
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कुंडलिया छंद
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
नन्हें फूलों की नादानियाँ
DESH RAJ
Loading...