Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#24 Trending Author

✍️वो कहना ही भूल गया✍️

✍️वो कहना ही भूल गया✍️
…………………………………………//
मैं धीरे धीरे पिघल गया ।
शमा की तरह जल गया ।।

शहद की जुबां थी उसकी ।
मैं ख़ुद ब खुद संभल गया ।।

निम के पेड़ का ये शहर ।
मैं कड़वे घूँट निग़ल गया ।।

कुछ तो तज़ुर्बे है धूपछांव के।
वो मौसम की तरह बदल गया ।।

बातों से बात बन भी जाती ।
मगर वो कहना ही भूल गया ।।
…………………………………………//
✍️”अशांत”शेखर✍️
11/06/2022

1 Like · 101 Views
You may also like:
माँ
Dr. Meenakshi Sharma
कारण के आगे कारण
सूर्यकांत द्विवेदी
आदतें
AMRESH KUMAR VERMA
आस्माँ के परिंदे
VINOD KUMAR CHAUHAN
बुद्धिजीवियों के आईने में गाँधी-जिन्ना सम्बन्ध
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पहले दिन स्कूल (बाल कविता)
Ravi Prakash
वृक्ष थे छायादार पिताजी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
प्रिय सुनो!
Shailendra Aseem
एक प्रेम पत्र
Rashmi Sanjay
जब-जब देखूं चाँद गगन में.....
अश्क चिरैयाकोटी
"पिता की क्षमता"
पंकज कुमार "कर्ण"
घड़ी
Utsav Kumar Aarya
आ ख़्वाब बन के आजा
Dr fauzia Naseem shad
✍️अपना ही सवाल✍️
'अशांत' शेखर
कलम
AMRESH KUMAR VERMA
【26】**!** हम हिंदी हम हिंदुस्तान **!**
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
होली कान्हा संग
Kanchan Khanna
पितृ महिमा
मनोज कर्ण
जिंदगी एक बार
Vikas Sharma'Shivaaya'
बग़ावत
Shyam Sundar Subramanian
मुझको मालूम नहीं
gurudeenverma198
💐मनुष्यशरीरस्य शक्ति: सुष्ठु नियोजनं💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
✍️पर्दा-ताक हुवा नहीं✍️
'अशांत' शेखर
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग६]
Anamika Singh
Father is the real Hero.
Taj Mohammad
अगर प्यार करते हो मुझको
Ram Krishan Rastogi
दो जून की रोटी
Ram Krishan Rastogi
1-अश्म पर यह तेरा नाम मैंने लिखा2- अश्म पर मेरा...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
डाक्टर भी नहीं दवा देंगे।
सत्य कुमार प्रेमी
वैसे तो तुमसे
gurudeenverma198
Loading...