Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#26 Trending Author
Jun 27, 2022 · 1 min read

वैसे तो तुमसे

वैसे तो तुमसे,
रहता हूँ उत्सुक मिलने को रोज,
और देखता हूँ तुम्हारे सपनें रोज,
बनाने को तुमको अपना मैं,
हमरुह, हमदर्द और हमराह।

क्योंकि तुमसे करता हूँ प्यार,
मानकर अपनी ख़ुशी तुमको,
मानकर अपना हमराही तुमको,
देता हूँ मैं सच्चे दिल से तुमको,
इज्जत और अपनी खुशी।

चाहता हूँ तुमसे भी बदले में,
निःस्वार्थ प्यार और सम्मान,
खुशी के बदले दिल की खुशी,
हमदर्दी और दवा जिंदगी की,
बिना किसी शर्त और वादे के।

वैसे तो तुमसे,
कहना चाहता हूँ यह भी,
नहीं मिलेगा मुझसा दीवाना,
तुम पर करने को कुर्बान,
अपनी दौलत- शौहरत, खुशी,
इस जन्म में जमाने में तुमको।

लेकिन मत करना कभी यह भूल,
किसी से लगाने को दिल अपना,
नहीं रहोगी इतनी पवित्र तुम,
हो जावोगी बदनाम- बर्बाद तुम,
नहीं मिलेगी पनाह छुपाने को सिर।

तुम रहोगी हमेशा सावधान,
कम से कम मेरे विचार से तो,
और लिखता आया हूँ यही मैं,
तुम्हारे लिए अपने नगमों में,
और करता हूँ यही उम्मीद मैं,
वैसे तो तुमसे।

शिक्षक एवं साहित्यकार-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)
मोबाईल नम्बर- 9571070847

61 Views
You may also like:
आपतो हो सुकून आंखों का
Dr fauzia Naseem shad
किसकी तलाश है।
Taj Mohammad
*प्रिय सावन में मतवाली (गीतिका)*
Ravi Prakash
✍️खून-ए-इंक़िलाब नहीं✍️
"अशांत" शेखर
अभी दुआ में हूं बद्दुआ ना दो।
Taj Mohammad
" सहज कविता "
DrLakshman Jha Parimal
फादर्स डे पर विशेष पिरामिड कविता
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
“ आत्ममंथन; मिथिला,मैथिली आ मैथिल “
DrLakshman Jha Parimal
आईनें में सूरत।
Taj Mohammad
फरिश्तों सा कमाल है।
Taj Mohammad
ये दिल क्या करे।
Taj Mohammad
मुस्कुराहट का नाम है जिन्दगी
Anamika Singh
मिसाइल मैन
Anamika Singh
'सती'
Godambari Negi
सूरज से मनुहार (ग्रीष्म-गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
महंगाई के दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
अधजल गगरी छलकत जाए
Vishnu Prasad 'panchotiya'
होना सभी का हिसाब है।
Taj Mohammad
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग६]
Anamika Singh
पिता की सीख
Anamika Singh
देव शयनी एकादशी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"अबला नहीं मैं"
Dr Meenu Poonia
की बात
AJAY PRASAD
मंज़िल
Ray's Gupta
कबीर के राम
Shekhar Chandra Mitra
नया पड़ाव।
Kanchan sarda Malu
“ सज्जन चोर ”
DrLakshman Jha Parimal
हमारी ग़ज़लों ने न जाने कितनी मेहफ़िले सजाई,
Vaishnavi Gupta
कुछ तो बोल
Harshvardhan "आवारा"
इश्क की खुशबू।
Taj Mohammad
Loading...