Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#28 Trending Author
May 28, 2022 · 1 min read

वीर विनायक दामोदर सावरकर जिंदाबाद( गीत )

*वीर सावरकर 【गीत 】*
■■■■■■■■■■■■
वीर विनायक दामोदर सावरकर जिंदाबाद
(1)
कष्ट सहा काले पानी का ,कोल्हू को पेला था
कालकोठरी में यम से ,वह वीर युद्ध खेला था
कोड़ों से पीटे जाते थे ,कभी बेंत खाते थे
कभी पेट भर जाता ,अक्सर भूखे सो जाते थे
करो कूदने की सागर में ,घटना की फिर याद
वीर विनायक दामोदर सावरकर जिंदाबाद
(2)
सत्तावन को आजादी का पहला युद्ध बताया
खोया .हुआ शौर्य भारत में फिर से ऐसे आया
दस्तावेजों के बल पर प्रामाणिक थी यह गाथा
हुआ हिंद का इस गाथा से ऊँचा दुगना माथा
यह था तथ्यों के बल पर ,इतिहासों से संवाद
वीर विनायक दामोदर सावरकर जिंदाबाद
(3)
बने राष्ट्रभाषा हिंदी अनुपम अभियान चलाया
जेल सेल्यूलर में हिंदी के सम्मुख शीश झुकाया
यह सावरकर देवनागरी लिपि के थे अनुयाई
यह सावरकर राष्ट्र-एकता की जिनमें गहराई
सबको सिखलाई थी हिंदी भर-भर कर आह्लाद
वीर विनायक दामोदर सावरकर जिंदाबाद
(4)
आजादी जब मिली कहा यह खंडित क्यों है आई
यह विभीषिका महाविभाजन की भारत पर छाई
दुखी हृदय था हिंदू-हित-चिंतक अवसाद भरा था
भारत माता का सपूत था हिंदू हृदय खरा था
चखा न जिसने आजादी के मीठे फल का स्वाद
वीर विनायक दामोदर सावरकर जिंदाबाद
■■■■■■■■■■■■■■■■■■■
*रचयिता : रवि प्रकाश ,बाजार सर्राफा*
*रामपुर (उत्तर प्रदेश)*
*मोबाइल 99976 15451*

139 Views
You may also like:
मां
Umender kumar
"अल्मोड़ा शहर"
Lohit Tamta
✍️✍️दोस्त✍️✍️
'अशांत' शेखर
आलीशान
साहित्य गौरव
" मायूस धरती "
Dr Meenu Poonia
किसी के मेयार पर
Dr fauzia Naseem shad
खुद को भी
Dr fauzia Naseem shad
"रिश्ते"
Ajit Kumar "Karn"
इस तरह
Dr fauzia Naseem shad
पिता
पूनम झा 'प्रथमा'
The shade of 'Bodhi Tree'
Buddha Prakash
नव गीत
Sushila Joshi
मय्यत पर मेरी।
Taj Mohammad
पर्यावरण
सूर्यकांत द्विवेदी
मौत
Alok Saxena
स्वर कटुक हैं / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कुछ ना रहा
Nitu Sah
दिल की ख्वाहिशें।
Taj Mohammad
✍️✍️हादसा✍️✍️
'अशांत' शेखर
धरा करे मनुहार…
Rekha Drolia
Father is the real Hero.
Taj Mohammad
"वो पिता मेरे, मै बेटी उनकी"
रीतू सिंह
✍️चेहरा-ए-नक़्श✍️
'अशांत' शेखर
इंतजार
Anamika Singh
खींच मत अपनी ओर.....
डॉ.सीमा अग्रवाल
✍️✍️पराये दर्द✍️✍️
'अशांत' शेखर
🌺🍀परिश्रम: प्रकृत्या सम्बन्धेन भवति🍀🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
इसीलिए मेरे दुश्मन बहुत है
gurudeenverma198
ऊंची शिखर की उड़ान
AMRESH KUMAR VERMA
प्रेमानुभूति भाग-1 'प्रेम वियोगी ना जीवे, जीवे तो बौरा होई।’
पंकज 'प्रखर'
Loading...