Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 6, 2021 · 1 min read

वीरान सड़कें

वीरान सड़कों की भी अपनी दास्तानें हुआ करती हैं ,
वो कई राज़ अपने सीने में दफ़्न रक्खा करती हैं ,
वीरान होते हुए भी वो कई आवाज़ें
कई चीखें समेटे रहती हैं ,
वो चुप रह कर कई मंज़र अपनी छाती पे झेलती हैं ,
लोग वीरान सड़कों पे जाने से घबराते हैं
कभी मौत , कभी पैसे तो कभी इज़्ज़त लुटने के डर से ,
इन वीरान सड़कों पर भी जश्न होते हैं
पर ये जश्न भारी पड़ते हैं उनपर
जिनकी आँखों ने कभी कोई जश्न देखा न हो |

द्वारा – नेहा ‘आज़ाद’

4 Likes · 9 Comments · 209 Views
You may also like:
पिता
Ray's Gupta
देश के हित मयकशी करना जरूरी है।
सत्य कुमार प्रेमी
मेरे बुद्ध महान !
मनोज कर्ण
सर्वश्रेष्ठ
Seema Tuhaina
करता है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
अब मैं बहुत खुश हूँ
gurudeenverma198
कविता 100 संग्रह
श्याम सिंह बिष्ट
अंकपत्र सा जीवन
सूर्यकांत द्विवेदी
एक शख्स ही ऐसा होता है
Krishan Singh
स्वागत बा श्री मान
आकाश महेशपुरी
अटल विश्वास दो
Saraswati Bajpai
*!* मेरे Idle मुन्शी प्रेमचंद *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
✍️कुछ यादों के पन्ने✍️
"अशांत" शेखर
खुदा का वास्ता।
Taj Mohammad
बुंदेली दोहे
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग३]
Anamika Singh
सेहरा गीत परंपरा
Ravi Prakash
शुभचिंतक, एक बहन
Dr.sima
वो हमें दिन ब दिन आजमाते रहे।
सत्य कुमार प्रेमी
भ्राता - भ्राता
Utsav Kumar Aarya
अश्रुपात्र A glass of years भाग 6 और 7
Dr. Meenakshi Sharma
अल्फाज़ ए ताज भाग-2
Taj Mohammad
साथ समय के चलना सीखो...
डॉ.सीमा अग्रवाल
*कॉंवड़ (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
समय ।
Kanchan sarda Malu
तेरी सुंदरता पर कोई कविता लिखते हैं।
Taj Mohammad
Keep faith in GOD and yourself.
Taj Mohammad
प्रतीक्षा के द्वार पर
Saraswati Bajpai
बिछड़न [भाग१]
Anamika Singh
सास और बहु
Vikas Sharma'Shivaaya'
Loading...