#10 Trending Author
May 11, 2022 · 1 min read

विसाले यार ना मिलता है।

पेश है पूरी ग़ज़ल…

हर किसी को विसाले यार ना मिलता है।
कद्रदान तो बहुत है दिले यार ना मिलता है।।1।।

कहने को तो भीड़ से घिरे है हम हमेशा।
एहसासों को जो समझे,इंसा ना मिलता है।।2।।

यूं कब तक हम ऐसे ही तन्हाई में जिए।
हमारे गर्दिशो का यह आसमां ना छटता है।।3।।

इंसान खींचा तानी में मशरूफ है बड़ा।
इश्क तो करले कोई बेपरवाह ना मिलता है।।4।।

बाज़ार तो लगा है दिलको बहलाने का।
रूह ए तासीर को कोई सामा ना मिलता है।।5।।

झूठे फरेबियों से भरा है सफरे कारवां
आबे तिश्नगी में सहरा ए यार ना मिलता है।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

1 Like · 2 Comments · 22 Views
You may also like:
पिता का साया हूँ
N.ksahu0007@writer
*कलम शतक* :कवि कल्याण कुमार जैन शशि
Ravi Prakash
मुझे चाहत हैं तेरी.....
Dr. Alpa H.
सुमंगल कामना
Dr.sima
If we could be together again...
Abhineet Mittal
राम
Saraswati Bajpai
दर्द भरे गीत
Dr.sima
जग का राजा सूर्य
Buddha Prakash
**नसीब**
Dr. Alpa H.
नई सुबह रोज
Prabhudayal Raniwal
चाँद ने कहा
कुमार अविनाश केसर
*हास्य-रस के पर्याय हुल्लड़ मुरादाबादी के काव्य में व्यंग्यात्मक चेतना*
Ravi Prakash
धागा भाव-स्वरूप, प्रीति शुभ रक्षाबंधन
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कोई तो है कहीं पे।
Taj Mohammad
तेरा पापा... अपने वतन में
Dr. Pratibha Mahi
अक्षय तृतीया की हार्दिक शुभकामनाएं
sheelasingh19544 Sheela Singh
कविता क्या है ?
Ram Krishan Rastogi
नीड़ फिर सजाना है
Saraswati Bajpai
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
एक हम ही है गलत।
Taj Mohammad
तो पिता भी आसमान है।
Taj Mohammad
चंदा मामा
Dr. Kishan Karigar
अपने पापा की मैं हूं।
Taj Mohammad
मैं
Saraswati Bajpai
सूरज से मनुहार (ग्रीष्म-गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
भगवान परशुराम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
यादों की भूलभुलैया में
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मौन की पीड़ा
Saraswati Bajpai
टूटता तारा
Anamika Singh
जिदंगी के कितनें सवाल है।
Taj Mohammad
Loading...