Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#2 Trending Author
Apr 23, 2022 · 1 min read

विश्व पुस्तक दिवस पर पुस्तको की वेदना

ई बुक्स आते ही,हमारा बहिष्कार हो गया,
जैसे कोई हमारा,बाज़ार से बनवास हो गया।
क्या होगा हमारा भविष्य हमको पता नही,
बच्चो के बसतो से हमारा बहिष्कार हो गया।।

जमाना हो गया,अब भरे कैसे किलकारियां,
मरने की कर ली है हमने भी अब तैयारियां।
आ गई है ई बुक्स हमारे स्थान पर,
समझ रहा न कोई भी हमारी लाचारियां।।

किताबो से पूछ रही है,सब बंद अलमारियां,
बाहर क्यों नहीं जाती,क्या तुम्हे बीमारियां।
रो रो कर किताबे अलमारियों से ये बोली,
बाहर कैसे निकले,मिलती नही हमे सवारियां।।

कविता कहानी रचनाएं सब हम में ही कैद थी,
शिक्षा विभाग से पढ़ने के लिए हम ही वैध थी।
कहां गए वे कानून,कोई इन्हे नही अब पूछता,
ई बुक्स ने ही हमारे लिए गहरी सैंध की थी।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

3 Likes · 3 Comments · 169 Views
You may also like:
सेक्लुरिजम का पाठ
Anamika Singh
# हमको नेता अब नवल मिले .....
Chinta netam " मन "
नवगीत -
Mahendra Narayan
मैं अश्क हूं।
Taj Mohammad
कुछ गुनाहों की कोई भी मगफिरत ना होती है।
Taj Mohammad
उस रब का शुक्र🙏
Anjana Jain
मौसम
AMRESH KUMAR VERMA
✍️एक आफ़ताब ही काफी है✍️
"अशांत" शेखर
प्रकृति की नज़ाकत
Dr. Alpa H. Amin
✍️दरिया और समंदर✍️
"अशांत" शेखर
हम भारत के लोग
Mahender Singh Hans
धागा भाव-स्वरूप, प्रीति शुभ रक्षाबंधन
Pt. Brajesh Kumar Nayak
💐 ग़ुरूर मिट जाएगा💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जीवन जीने की कला, पहले मानव सीख
Dr Archana Gupta
प्रकृति के कण कण में ईश्वर बसता है।
Taj Mohammad
पृथ्वी दिवस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
तो ऐसा नहीं होता
"अशांत" शेखर
“पिया” तुम बिन
DESH RAJ
न तुमने कुछ न मैने कुछ कहा है
ananya rai parashar
हालात
Surabhi bharati
बर्षा रानी जल्दी आओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ए. और. ये , पंचमाक्षर , अनुस्वार / अनुनासिक ,...
Subhash Singhai
बे-पर्दे का हुस्न।
Taj Mohammad
अल्फाज़ हैं शिफा से।
Taj Mohammad
"जीवन"
Archana Shukla "Abhidha"
" tyranny of oppression "
DESH RAJ
कभी कभी।
Taj Mohammad
【29】!!*!! करवाचौथ !!*!!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
" अखंड ज्योत "
Dr Meenu Poonia
💐💐प्रेम की राह पर-21💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...