Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

विश्व पुस्तक दिवस (किताब)

किताब

दिल से एक बार पढ़ लो मुझको
जिंदगी संवार दूंगी
प्यार से उठा अपने हाथों में
हर सवाल का जवाब दूंगी
शारदा की वरद पुत्री
ईश्वर का मैं वरदान हूं
ज्ञान और विज्ञान का
मैं समूचा ज्ञान हूं
एक बार दोस्ती करके तो देख
मिटा दूंगी अज्ञान अंधेरे की रेख
-सुरेश कुमार चतुर्वेदी

2 Likes · 70 Views
You may also like:
इश्क़ में क्या हार-जीत
N.ksahu0007@writer
माँ
सूर्यकांत द्विवेदी
सुनसान राह
AMRESH KUMAR VERMA
یہ سوکھے ہونٹ سمندر کی مہربانی
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
पुण्य स्मरण: 18 जून2008 को मुरादाबाद में आयोजित पारिवारिक समारोह...
Ravi Prakash
रात गहरी हो रही है
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ईश्वर की ठोकर
Vikas Sharma'Shivaaya'
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग २]
Anamika Singh
जाने क्यों वो सहमी सी ?
Saraswati Bajpai
मुंह की लार – सेहत का भंडार
Vikas Sharma'Shivaaya'
बुन रही सपने रसीले / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
अर्धनारीश्वर की अवधारणा...?
मनोज कर्ण
सपना
AMRESH KUMAR VERMA
🥗फीका 💦 त्यौहार💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द
✍️अश्क़ का खारा पानी ✍️
"अशांत" शेखर
✍️एक चूक...!✍️
"अशांत" शेखर
दीपावली,प्यार का अमृत, प्यार से दिल में, प्यार के अंदर...
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
अखबार ए खास
AJAY AMITABH SUMAN
मैं तुम्हारे स्वरूप की बात करता हूँ
gurudeenverma198
हे ईश्वर!
Anamika Singh
महंगाई के दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ज़रा सामने बैठो।
Taj Mohammad
✍️शब्दांच्या संवेदना...✍️
"अशांत" शेखर
अब भी श्रम करती है वृद्धा / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
हिन्दी थिएटर के प्रमुख हस्ताक्षर श्री पंकज एस. दयाल जी...
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कलयुग की पहचान
Ram Krishan Rastogi
हरियाली और बंजर
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
खूबसूरत एहसास.......
Dr. Alpa H. Amin
बुआ आई
राजेश 'ललित'
कल भी होंगे हम तो अकेले
gurudeenverma198
Loading...