Sep 7, 2016 · 1 min read

विश्वास की गली में ये ज़िन्दगी पली है

विश्वास की गली में
ये ज़िन्दगी पली है
देती है दर्द अक्सर
लगती मगर भली है

होती शुरू किरण से
हर भोर की कहानी
आती है चाँदनी से
हर रात पे जवानी
यह साथ साथ इनके
चुपचाप ही चली है

है आज गम जहाँ पर
कल थी ख़ुशी वहाँ पर
यह छीन भी तो लेती
देती अगर यहाँ पर
है खार तो कहीं ये
खिलती हुई कली है

होती है ज़िन्दगी तो
बस प्यार की अमानत
चुन फूल नफरतों के
करना सदा इबादत
बरबाद तब हुई ये
नफरत में जब जली है

डॉ अर्चना गुप्ता

7 Comments · 233 Views
You may also like:
"हमारी यारी वही है पुरानी"
Dr. Alpa H.
पिता के होते कितने ही रूप।
Taj Mohammad
विसाले यार ना मिलता है।
Taj Mohammad
'बेदर्दी'
Godambari Negi
दिल की आरजू.....
Dr. Alpa H.
परीक्षा को समझो उत्सव समान
ओनिका सेतिया 'अनु '
जबसे मुहब्बतों के तरफ़दार......
अश्क चिरैयाकोटी
पापा की परी...
Sapna K S
क्या गढ़ेगा (निर्माण करेगा ) पाकिस्तान
Dr.sima
परिंदों सा।
Taj Mohammad
सफलता की कुंजी ।
Anamika Singh
श्री राम स्तुति
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
फास्ट फूड
AMRESH KUMAR VERMA
मैं तो सड़क हूँ,...
मनोज कर्ण
मौन की पीड़ा
Saraswati Bajpai
【21】 *!* क्या आप चंदन हैं ? *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
आज फिर
Rashmi Sanjay
उपहार की भेंट
Buddha Prakash
रामे क बरखा ह रामे क छाता
Dhirendra Panchal
नाशवंत आणि अविनाशी
Shyam Sundar Subramanian
अद्भभुत है स्व की यात्रा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
यही है भीम की महिमा
Jatashankar Prajapati
पिता अब बुढाने लगे है
n_upadhye
चार काँधे हों मयस्सर......
अश्क चिरैयाकोटी
*मृदुभाषी श्री ऊदल सिंह जी : शत-शत नमन*
Ravi Prakash
किस राह के हो अनुरागी
AJAY AMITABH SUMAN
हक़ीक़त
अंजनीत निज्जर
ईद में खिलखिलाहट
Dr. Kishan Karigar
*!* हट्टे - कट्टे चट्टे - बट्टे *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
दिल,एक छोटी माँ..!
मनोज कर्ण
Loading...