Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Oct 2022 · 1 min read

विचार

..विचार सतत् प्रक्रिया है और हर बात महत्वपूर्ण होती है पर यह हमारी रूचि पर निर्भर है कि हमें क्या अच्छा लगता है पर बिना अच्छी लगे यदि कोई बात कुछ कह जाए तो वह भी कम महत्वपूर्ण नहीं होती। अच्छी बात पर प्रतिक्रिया करने के लिए प्रखर दृष्टि चाहिए पर सभी अपनी-अपनी दृष्टि को सही सिद्ध करने में लगे हैं ..। मनोज शर्मा 21-10-2022

Language: Hindi
Tag: Ms
1 Like · 67 Views
You may also like:
योग छंद विधान और विधाएँ
Subhash Singhai
जिसका प्रथम कर्तव्य है जनसेवा नाम है भुनेश्वर सिन्हा,युवा प्रेरणा...
Bramhastra sahityapedia
इंतज़ार
Alok Saxena
महाराणा प्रताप
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
निज़ामी आसमां की।
Taj Mohammad
हर्फ ए मुश्किल है यूं आसान न समझा जाए
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
लाचार बचपन
Shyam kumar kolare
जन्माष्टमी विशेष
Pratibha Kumari
प्रेम
लक्ष्मी सिंह
ध्यान
विशाल शुक्ल
दोहे एकादश ...
डॉ.सीमा अग्रवाल
मशहूर हो जाऊं
सुशील कुमार सिंह "प्रभात"
खुशियों की दीपावली (छोटी कहानी)
Ravi Prakash
आधा चांद भी
shabina. Naaz
दे सहयोग पुरजोर
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
स्वतंत्रता की सार्थकता
Dr fauzia Naseem shad
में हूँ हिन्दुस्तान
Irshad Aatif
प्लेटफॉर्म
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
क्या रह गया है अब शेष जो
gurudeenverma198
#किताबों वाली टेबल
Seema 'Tu hai na'
■ नमन, वंदन, अभिनंदन
*प्रणय प्रभात*
बख़्श दी है जान मेरी, होश में क़ातिल नहीं है
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मिली सफलता
श्री रमण 'श्रीपद्'
✍️इंसान के पास अपना क्या था?✍️
'अशांत' शेखर
कोई हिन्दू हो या मूसलमां,
Satish Srijan
🌴❄️हवाओं से ज़िक्र किया तेरा❄️🌴
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जो बात तुझ में है, तेरी तस्वीर में कहां
Ram Krishan Rastogi
फिर भी वो मासूम है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
खुशनुमा ही रहे, जिंदगी दोस्तों।
सत्य कुमार प्रेमी
दर्द ए हया को दर्द से संभाला जाएगा
कवि दीपक बवेजा
Loading...