Oct 6, 2016 · 1 min read

वाह! कमाया नाम…..: छंद कुण्डलिया

________________________________
कुण्डलिया:
पेरिस पर हमले किये, वाह! कमाया नाम.
इससे कोई मत करे, परिभाषित इस्लाम..
परिभाषित इस्लाम, पहन सेना सी वर्दी.
क़त्ल, भले. निर्दोष, कहाँ यह दहशतगर्दी?
उचित मिले उपचार, रही मानवता है पिस.
बने एकमत विश्व, एक हों लन्दन-पेरिस..
________________________________
दोहा:
बेगुनाह जो हैं मरे, आहत विश्व समाज.
श्रद्धा के यह दो सुमन उन्हें समर्पित आज..
________________________________

इंजी० अम्बरीष श्रीवास्तव ‘अम्बर’

109 Views
You may also like:
वो
Shyam Sundar Subramanian
दोस्त जीवन में एक सच्चा दोस्त ज़रूर कमाना….
Piyush Goel
लाचार बूढ़ा बाप
The jaswant Lakhara
प्यार भरे गीत
Dr.sima
शायद...
Dr. Alpa H.
मम्मी म़ुझको दुलरा जाओ..
Rashmi Sanjay
"मैं तुम्हारा रहा"
Lohit Tamta
मेरी धड़कन जूलियट और तेरा दिल रोमियो हो जाएगा
Krishan Singh
श्रीराम
सुरेखा कादियान 'सृजना'
है रौशन बड़ी।
Taj Mohammad
पापा
Anamika Singh
सच
Vikas Sharma'Shivaaya'
आइसक्रीम लुभाए
Buddha Prakash
💐💐प्रेम की राह पर-13💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
नर्सिंग दिवस विशेष
हरीश सुवासिया
ग़म की ऐसी रवानी....
अश्क चिरैयाकोटी
गुफ़्तगू का ढंग आना चाहिए
अश्क चिरैयाकोटी
मेरे पापा जैसे कोई नहीं.......... है न खुदा
Nitu Sah
रामे क बरखा ह रामे क छाता
Dhirendra Panchal
Destined To See A Totally Different Sight
Manisha Manjari
सौगंध
Shriyansh Gupta
बचे जो अरमां तुम्हारे दिल में
Ram Krishan Rastogi
सितम पर सितम।
Taj Mohammad
गर्म साँसें,जल रहा मन / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मेरे गाँव का अश्वमेध!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
" मैं हूँ ममता "
मनोज कर्ण
उस रब का शुक्र🙏
Anjana Jain
पिता
Manisha Manjari
आज बहुत दिनों बाद
Krishan Singh
ज़िन्दगी की धूप...
Dr. Alpa H.
Loading...