Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Aug 2022 · 1 min read

वही मित्र है

जो सबसे निराला और विचित्र है ,वही मित्र है

कभी अल्हड़ तो कभी संजीदा बनकर,

हंसी खेल में तरकीब नई दिखा जाते

निराश चेहरों पर मुस्कान नई ले आते

ऐसे अद्भुत तथा विशिष्ट है ,वही मित्र है |

बीते कल की यादें ,बातें कुछ अनसुने

किस्से सहज ही दोहरा जाते

हर लम्हे को यूँ ही यादगार बना जाते

जीवनरूपी केनवास पर अंकित इक

सुंदर चित्र है ,वही मित्र है |

अनंत बातें,बेतुके किस्से कहकर

दुखों को हल्का कर जाते

जीवन की बगिया को महकाता इक

सुगंधित इत्र है ,वही मित्र है |

Language: Hindi
Tag: Friendshipday Poem, Kavita
84 Views
You may also like:
“ पागल -प्रेमी ”
DrLakshman Jha Parimal
शत शत नमन उन सपूतों को
gurudeenverma198
जब हवाएँ तेरे शहर से होकर आती हैं।
Manisha Manjari
मौसम की गर्मी
Seema 'Tu hai na'
आदर्श पिता
Sahil
# मंजिल के राही
Rahul yadav
" राज "
Dr Meenu Poonia
हर किसी में अदबो-लिहाज़ ना होता है।
Taj Mohammad
वाह नेताजी वाह
Shekhar Chandra Mitra
Daily Writing Challenge : जल
'अशांत' शेखर
गोवर्धन पूजन
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
#अतिथि_कब_जाओगे??
संजीव शुक्ल 'सचिन'
अन्नदाता किसान कैसे हो
नूरफातिमा खातून नूरी
A poor little girl
Buddha Prakash
*मय या मयखाना*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आंख ऊपर न उठी...
Shivkumar Bilagrami
चलो अब गांवों की ओर
Ram Krishan Rastogi
अंतर्द्वंद्व
मनोज कर्ण
क्या मेरी कलाई सूनी रहेगी ?
Kumar Anu Ojha
गरिमामय प्रतिफल
Shyam Sundar Subramanian
दिवाली शुभ होवे
Vindhya Prakash Mishra
💐💐ज्ञानस्य अभिमानं नरकेषु प्रवेशक:💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मेरे गुरू मेरा अभिमान
Anamika Singh
मौत की हक़ीक़त है
Dr fauzia Naseem shad
ठोडे का खेल
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
एउटा मधेशी ठिटो
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
*तीन माह की प्यारी गुड़िया (बाल कविता)*
Ravi Prakash
श्रीमती का उलाहना
श्री रमण 'श्रीपद्'
श्याम घनाक्षरी
सूर्यकांत द्विवेदी
'विश्व जनसंख्या दिवस'
Godambari Negi
Loading...