Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 30, 2021 · 1 min read

वज्रपात

मैं सोच रही थी कि
मौसम सुहावना रहेगा
रिमझिम बारिश होगी
हवाओं में ठंडक रहेगी
लेकिन मेरी सोच के
सब विपरीत हुआ
धूप, गर्मी और उमस ने
हाल बेहाल कर दिया
मेरा तो दिल ही
टूट गया जब
मैंने सोचा मेरे अपनों का
साथ अभी लम्बे समय तक बना
रहेगा लेकिन
वज्रपात हुआ
जब यह है सोचना भी एक भ्रम मात्र ही निकला और
सुबह आंख खुलते ही
एक रात के सपने सा
टूट गया।

मीनल
सुपुत्री श्री प्रमोद कुमार
इंडियन डाईकास्टिंग इंडस्ट्रीज
सासनी गेट, आगरा रोड
अलीगढ़ (उ.प्र.) – 202001

2 Likes · 295 Views
You may also like:
सच को सच
Dr fauzia Naseem shad
उसको बता दो।
Taj Mohammad
'प्यारी ऋतुएँ'
Godambari Negi
काँटों में खिलो फूल-सम, औ दिव्य ओज लो।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
घडी़ की टिक-टिक⏱️⏱️
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
देखो हाथी राजा आए
VINOD KUMAR CHAUHAN
चांदनी रातें भी गमगीन सी हैं।
Taj Mohammad
माँ
shabina. Naaz
निज सुरक्षित भावी
AMRESH KUMAR VERMA
✍️बुलडोझर✍️
'अशांत' शेखर
धरा करे मनुहार…
Rekha Drolia
क़ौल ( प्रण )
Shyam Sundar Subramanian
नियमित दिनचर्या
AMRESH KUMAR VERMA
अन्याय का साथी
AMRESH KUMAR VERMA
गहरा सोचता है।
Taj Mohammad
सरकारी नौकर
Dr Meenu Poonia
अच्छा किया तुमने।
Taj Mohammad
मेरी लेखनी
Anamika Singh
वैराग्य
Pt. Brajesh Kumar Nayak
✍️मुमकिन था..!✍️
'अशांत' शेखर
राष्ट्रमंडल खेल- 2022
Deepak Kohli
✍️चाँद में रोटी✍️
'अशांत' शेखर
उजड़ती वने
AMRESH KUMAR VERMA
“सराय का मुसाफिर”
DESH RAJ
पुस्तक समीक्षा
Rashmi Sanjay
"कभी मेरा ज़िक्र छिड़े"
Lohit Tamta
हिन्दी थिएटर के प्रमुख हस्ताक्षर श्री पंकज एस. दयाल जी...
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मिलन
Anamika Singh
"अल्मोड़ा शहर"
Lohit Tamta
छोड़ दिए संस्कार पिता के, कुर्सी के पीछे दौड़ रहे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...