Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#22 Trending Author
Jul 10, 2022 · 1 min read

लौट आते तो

रास्ते तो वही थे मंज़िल के ।
लौट आते तो मिल भी सकते थे ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

5 Likes · 48 Views
You may also like:
वर्तमान से वक्त बचा लो तुम निज के निर्माण में...
AJAY AMITABH SUMAN
जिंदगी देखा तुझे है आते अरु जाते हुए।
सत्य कुमार प्रेमी
आ सजाऊँ भाल पर चंदन तरुण
Pt. Brajesh Kumar Nayak
फौजी ज़िन्दगी
Lohit Tamta
तन-मन की गिरह
Saraswati Bajpai
अक्सर सोचतीं हुँ.........
Palak Shreya
✍️चराग बुझा गयी✍️
'अशांत' शेखर
इश्क में तन्हाईयां बहुत है।
Taj Mohammad
मोहब्बत
Kanchan sarda Malu
बिख़रे वजूद की
Dr fauzia Naseem shad
तिरंगे की ललकार हो
kumar Deepak "Mani"
“ ईमानदार चोर ”
DrLakshman Jha Parimal
राष्ट्रमंडल खेल- 2022
Deepak Kohli
नया सपना
Kanchan Khanna
जिन्दगी का मामला।
Taj Mohammad
✍️मैंने पूछा कलम से✍️
'अशांत' शेखर
राज का अंश रोमी
Dr Meenu Poonia
इंसानो की यह कैसी तरक्की
Anamika Singh
हृद् कामना ....
डॉ.सीमा अग्रवाल
माई थपकत सुतावत रहे राति भर।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
दुर्घटना का दंश
DESH RAJ
अलबेले लम्हें, दोस्तों के संग में......
Aditya Prakash
देवता सो गये : देवता जाग गये!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
कलम बन जाऊंगा।
Taj Mohammad
कल्पना
Anamika Singh
✍️✍️जिंदगी✍️✍️
'अशांत' शेखर
शायरी
श्याम सिंह बिष्ट
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग ७]
Anamika Singh
दोहावली...(११)
डॉ.सीमा अग्रवाल
कहो अब और क्या चाहें
VINOD KUMAR CHAUHAN
Loading...