Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Nov 10, 2016 · 1 min read

[[ लिखी है खून से हमने मुहब्बत की इबादत है ]]

? लिखी है खून से हमने मुहब्बत की इबादत है
जमाना कर रहा देखों मुहब्बत पे बगावत है १

खुदा ने खुद बनाई है लकीरे हाथ में मेरे
खुदा मंजूर है मुझको नही कोई शिकायत है २

अकेला ही उतरना है मुहब्बत की कसौटी पर
अगर तुम साथ दो मेरा खुदा इतनी इनायत है ३

ख़ुदा इतना करो तुम भी दुआ सबकी मिले मुझको
मुहब्बत में फ़कत तुमसे मिली मुझको रवायत है ४

दुआएं माँगता फिरता , रहा में प्यार के ख़ातिर
दुआओ में मगर सबसे मिली मुझको जलालत है ५

ख़ुदा ने दी हमे हर चीज , वो बे-मोल थी लेकिन
मुहब्बत दी नही मुझको फ़कत इतनी नदामत है ६

दुआएं माँगती फिरती सनम मेरी हिफ़ाजत की
दुआएं हो सदा पूरी खुदा इतनी अज़ीयत है ७

सुहाना आज मौसम है महक बिखरी है गुलशन में
फिजाओं में गुलाबों सी , महकती ये मुहब्बत है ८

यहाँ कोई नही सुनता ख़ुदा मेरी कहानी को
भला में मान लूँ कैसे ये दुनियाँ खूबसूरत है ९

हक़ीक़त में तमाशा ही बना डाला मुहब्बत को
रहे रुखसार पे आँसू यहाँ दिल पे क़यामत है १०

मिटा दो तुम यहाँ पहरे मुहब्बत के नितिन सारे
दिखा दो तुम यहाँ सबको मुहब्बत ही हक़ीक़त है ११

?? नितिन शर्मा ??

151 Views
You may also like:
🌻🌻🌸"इतना क्यों बहका रहे हो,अपने अन्दाज पर"🌻🌻🌸
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सब खुदा हो गये
"अशांत" शेखर
नदी का किनारा
Ashwani Kumar Jaiswal
गधा
Buddha Prakash
रोग ने कितना अकेला कर दिया
Dr Archana Gupta
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग४]
Anamika Singh
Sweet Chocolate
Buddha Prakash
मन्नू जी की स्मृति में दोहे (श्रद्धा सुमन)
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
डरिये, मगर किनसे....?
मनोज कर्ण
जिंदगी जब भी भ्रम का जाल बिछाती है।
Manisha Manjari
क्या क्या पढ़ा है आपने ?
"अशांत" शेखर
बरसात आई है
VINOD KUMAR CHAUHAN
अशोक विश्नोई एक विलक्षण साधक (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
अस्मतों के बाज़ार लग गए हैं।
Taj Mohammad
कविता - राह नहीं बदलूगां
Chatarsingh Gehlot
कुरान की आयत।
Taj Mohammad
घातक शत्रु
AMRESH KUMAR VERMA
हमें तुम भुल गए
Anamika Singh
धार्मिक उन्माद
Rakesh Pathak Kathara
पिता जीवन में ऐसा ही होता है।
Taj Mohammad
अक्षय तृतीया की हार्दिक शुभकामनाएं
sheelasingh19544 Sheela Singh
ख्वाब
Swami Ganganiya
झरने और कवि का वार्तालाप
Ram Krishan Rastogi
धर्म बला है...?
मनोज कर्ण
मेरी धड़कन जूलियट और तेरा दिल रोमियो हो जाएगा
Krishan Singh
*पार्क में योग (कहानी)*
Ravi Prakash
ऐ दिल सब्र कर।
Taj Mohammad
✍️प्रकृति के नियम✍️
"अशांत" शेखर
यकीन
Vikas Sharma'Shivaaya'
🥗फीका 💦 त्यौहार💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द
Loading...